चार साल पहले हुई शी शादी, एक दिन कमरे में अकेली थी पत्नी, जब अचानक खुला दरवाजा तो...

कमरे में इस हालत में थी पत्नी, देखकर उड़े सभी के होश...

फर्रुखाबाद. फर्रुखाबाद में विवाहिता और उसके मासूम बेटे का शव फांसी पर लटका मिला। घटना की सूचना पर परिजन मौके पर पंहुचे, उन्होंने दहेज के लिये हत्या कर शव फांसी पर लटका दिये जाने का आरोप लगाया है। कमरे में ही एक सुसाइड नोट भी मिला है। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर दोनों शवों को पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया है।

 

दहेज के लिए हत्या का आरोप

थाना क्षेत्र के ग्राम मेदपुर निवासी आनन्द उर्फ लालू की 26 वर्षीय पत्नी लक्ष्मी देवी गंगवार की शादी चार साल पहले 2014 में रमेश के साथ हुई थी। दोनों का अक्सर विवाद होता रहता था। जानकारी के अनुसार पति उस दिन कहीं बाहर गया था। वहीं लड़की वालों के मुताबिक दहेज में 10 लाख नकद और अन्य दहेज का सामना देकर विवाह किया गया था। मंगलवार को परिजनों को सूचना मिली कि आपकी लड़की ने फांसी लगा ली है। सूचना मिलने पर मृतका के पिता गजराज निवासी नरैनामऊ कायमगंज मौके पर आ गये। लक्ष्मी और उसके मासूम डेढ़ वर्षीय पुत्र आरुश का शव कमरे में छत के पंखे से एक ही फंदे पर लटक रहे थे। दोनों की मौत हो चुकी थी। घटना की सूचना मिलने के बाद सीओ कायमगंज नरेश कुमार और थानाध्यक्ष महेन्द्र त्रिपाठी मौके पर पंहुचे। उन्होंने शव को नीचे उतरवाया।

 

 

 

कार के लिए करते थे प्रताड़ित

कमरे में ही पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला। जिस पर लिखा है की प्यारे पति देव मै जा रही हूं। आप का घर छोड़ कर। खुश रहना, सब लोग सुकून से रहना, मैं किसी को सुकून से रहने नहीं देती थी। मुझे माफ करना पति देव। मृतका के पिता ने पुलिस को ससुर सुभाष चन्द्र, सास रुकमा देवी और ननद शोभा के खिलाफ दहेज हत्या की तहरीर दी। मृतका के पिता ने बताया कि उन्होंने ससुराल वाले कार की मांग को लेकर लड़की को प्रताड़ित करते थे। जिसके चलते उसने हत्या कर शव फांसी पर लटका दिया। वहीं सीओ राम लखन सरोज ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। शव पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। जिसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned