मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से गुस्साए लोग

सिटी मजिस्ट्रेट ने पीड़ितों को समझाते हुए मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। इसके बाद पीड़ित यहां से वापस हुए।

By:

Published: 11 Dec 2017, 10:54 PM IST

Farrukhabad. शहर के मोहल्ला छावनी के रहीस हत्याकांड में मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी न होने से न सिर्फ पीड़ित बल्कि मोहल्ले के लोगों में नाराजगी है। पीड़ितों के साथ दर्जनों लोगों ने सोमवार को कलेक्ट्रेट में हंगामा खड़ा कर दिया। भारी भीड़ एकत्र होने से कलेक्ट्रेट में अफरा तफरी मच गई। सपा , बसपा और कांग्रेस के नेता भी पीड़ित की पैरवी में कलेक्ट्रेट में दाखिल हुए थे। सिटी मजिस्ट्रेट ने पीड़ितों को समझाते हुए मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। इसके बाद पीड़ित यहां से वापस हुए।

शहर के मोहल्ला छावनी में जरदोजी कारखाना मालिक रहीस उर्फ बल्लू की 7 दिसंबर को हत्या कर दी गई थी। इस मामले में मुख्य आरोपियों की पुलिस ने अभी तक गिरफ्तारी नहीं की। कोतवाली पुलिस के रवैए के खिलाफ पीड़ितों के समर्थन में मोहल्ले के लोग उद्धेलित हो उठे। आधा सैकड़ा से अधिक लोगों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर पुलिस के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया। कलेक्ट्रेट में भारी भीड़ देखकर सिटी मजिस्टे्रट ने सीओ सिटी और कोतवाली फोर्स को बुला लिया। कुछ ही देर बाद यहां पर भारी फोर्स पहंुच गई। हंगामा बढ़ता देखकर सिटी मजिस्ट्रेट ने कार्यालय के बाहर आकर पीड़ितों की पैरवी में आए बसपा नेता उमर खां और सपा नेता अनस सिद्दीकी से वार्ता की।

सिटी मजिस्ट्रेट ने पीड़ित परिवार के लोगों को आश्वासन दिया कि पुलिस मुख्य आरोपियों को जल्द पकड़ेगी। इसके बाद आर्थिक सहायता के लिए सपा नेताओं ने पीड़ित परिवार के लोगों की एसडीएम सदर से भेंट कराई। इस दौरान छावनी मोहल्ले के मृतक रहीस के भाई नूर मोहम्मद के अलावा इकलाख खान, सभासद रफी अहमद अंसारी, मुवीन अंसारी, रियाजुल समेत तमाम लोग मौजूद रहे। कांग्रेसी नेता अहमद अंसारी ने भी परिजनों की बात को उठाया ।

 

परिवार के सामने भी रोजी रोटी की समस्या है

मृतक रहीस के भाई नूर मोहम्मद ने कहा कि उनका चाचा और भाई का दोस्त गोविंद अभी भी जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। उनके परिवार के सामने भी रोजी रोटी की समस्या है। नूर मोहम्मद ने मुख्य आरोपियों से जान का खतरा बताया है। शासन से भी उसकी कोई मदद नही साथ मे आरोपी लगातार धमकी दे रहा है डीएम को दिए गए प्रार्थना पत्र में मृतक के भाई लिखा है कि यदि आरोपी को गिरफ्तार जल्द नही किया गया तो मुस्लिम समाज सड़को पर उतरने पर मजबूर होगा।पीड़ित परिवार के साथ बसपा नेता सपा नेता सहित सैकड़ों लोगों ने डीएम कार्यालय पर नारेबाजी करके गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।उधर सपा नेता अनस सिद्धकी ने कहा कि हिन्दू मुस्लिम एकता को बनाये रखने के लिए रहीस उर्फ बबलू ने अपनी जान दे दी थी लेकिन पुलिस व जिला प्रसाशन की तरफ से कोई लाभ नही मिला है।

Congress
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned