रिक्शा चालक पर 10वीं की छात्रा से रेप का आरोप, मकान मालकिन ने बताई 'सच्चाई'

रिक्शा चालक पर 10वीं की छात्रा से रेप का आरोप, मकान मालकिन ने बताई 'सच्चाई'

Hariom Dwivedi | Publish: Sep, 09 2018 02:42:41 PM (IST) Farrukhabad, Uttar Pradesh, India

मामले की जांच कर रही पुलिस, फर्रूखाबाद कोतवाली के मऊदरवाजा थानाक्षेत्र का मामला...

फर्रुखाबाद. मऊदरवाजा थाना क्षेत्र में स्कूल जाते समय एक छात्रा से बलात्कार का मामला सामने आया है। छात्रा के परिजनों ने आरोपी युवक अंकुर को मकान में बंधक बनाकर पीट कर घायल कर दिया। छात्रा के परिजनों ने युवक के खिलाफ छात्रा से बलात्कार की तहरीर दी है, वहीं आरोपी ने छात्रा और उसके परिजनों पर उसे फंसाने का आरोप लगाया। फिलहाल पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है।

थाना मऊदरवाजा के मोहल्ला हाता करम खां निवासी छात्रा के भाई ने युवक अंकुर राठौर के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए थाने में तहरीर दी। तहरीर के मुताबिक, रामानंद इंटर कॉलेज में 10वीं क्लास में पढ़ने वाली 15 वर्षीय छात्रा सुबह 7.30 बजे पैदल अकेले स्कूल जा रही थी। रास्ते में निर्मला के घर पर किराये पर रहने वाले युवक अंकुर राठौर ने उसे पकड़ लिया और घर के अंदर ले जाकर बुरा काम किया। छात्रा ने घर जाकर अपनी मां को सारी बात बताई। छात्रा के मां-बाप अपने दो पुत्रों के साथ बेटी को लेकर थाने पहुंचे।

कहा, जबरन पकड़ ले गये छात्रा के परिजन
पुलिस हिरासत में घायल अंकुर ने बताया कि वह किराये पर ई-रिक्शा चलाता है। सुबह घर के बाहर बैठा था, तभी छात्रा स्कूल जाते समय रुक गई और पूछा कि घर पर कोई है। उसने बताया कि घर पर कोई नहीं है, तभी छात्रा घर में घुस गई और 10 मिनट बाद चली गई। छात्रा स्कूल की ड्रेस पहने थी। अंकुर ने बताया कि मेरी मोबाइल फोन पर छात्रा से काफी समय से बातचीत होती थी। अंकुर ने बताया कि छात्रा के पिता व दोनों भाई मुझे जबरन पकड़कर अपने घर ले गए और वहां मेरी लात घूंसों से जमकर पिटाई की। डंडा मार दिए जाने से कनपटी पर काफी गहरा घाव हो गया। अंकुर की कनपटी से खून रिसते देखा गया।

मकान मालिक ने किया खुलासा
अंकुर की मकान मालकिन निर्मला देवी अपने पति गिरीश चंद राजपूत आदि महिलाओं के साथ थाने पहुंची। गिरीश चंद राजपूत ने बताया कि उसकी परचून की दुकान है। अंकुर उसके घर में 500 रुपये प्रतिमाह अकेले कमरे में किराए पर रहता है। छात्रा के परिजन मेरी दुकान से ही अंकुर को जबरन पकड़कर ले गए थे। निर्मला ने बताया कि जब मैं छात्रा के घर गई तो मुझे उन लोगों ने ऊपर कमरे में नहीं जाने दिया। उसी दौरान अंकुर के शरीर से खून निकलते देखा तो शोर मचाया। वहां टूटी लकड़ी व चमड़े की बेल्ट पड़ी थी। गिरीश चंद के परिवार की छात्रा ने अंकुर के मोबाइल फोन दिखाते हुए बताया कि उस छात्रा ने अंकुर को फोन किया था। छात्रा घटना के बाद स्कूल गई और छुट्टी होने पर मेरे साथ ही वापस आई थी।

पुलिस का बयान
बजरिया चौकी इंचार्ज गजेंद्र सिंह ने जांच पड़ताल करने के लिए मोबाइल फोन को कब्जे में ले लिया है। उसका सीडीआर निकाला जायेगा। पुलिस ने छात्रा को डॉक्टरी परीक्षण के लिए लिंजीगंज अस्पताल भेज दिया है। इस्पेक्टर दधिवल तिवारी ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर आरोपी को पकड़ लिया। जांच की जा रही है। जांच में युवक दोषी पाया जाता है तो पास्को एक्ट के तहत मुकदमा तरमीम किया जायेगा।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned