भागी हुई नावालिक लड़कियों से लगवाए जा रहे बलात्कार, परिजन लगा रहे फर्जी आरोप

भागी हुई नावालिक लड़कियों से लगवाए जा रहे बलात्कार, परिजन लगा रहे फर्जी आरोप

Mahendra Pratap | Publish: May, 18 2018 10:52:10 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

जिले में युवा पीढ़ी बहुत ही गलत रास्ते पर चल निकली जिसका मुख्य कारण मोबाइल है।

फर्रुखाबाद. जिले में युवा पीढ़ी बहुत ही गलत रास्ते पर चल निकली जिसका मुख्य कारण मोबाइल है। नाबालिक लड़किया लड़कों के साथ प्रेम प्रसंग में पड़कर उनके साथ जीवन गुजारने के सपने सजा लेती है। अपने परिवार की इज्जत की ताख में रखकर उस लड़के के साथ घर से रुपया पैसा लेकर भाग जाती है। युवती के परिजन थाने पर लड़की की गुमशुदगी या उस लड़के के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराते हैं। जबकि लड़की अपनी मर्जी से युवक के साथ जाती है।

फर्जी में फंसाने को तैयार नहीं होती लड़कियां

पुलिस द्वारा बरामद किए जाने के बाद परिजनों की मानसिकता बदल जाती हैं। वह अपनी लड़की के ऊपर दबाव बनाकर लड़की के साथ जाने वाले युवक के ऊपर बलात्कार लगबाने का भरपूर प्रयास करते है लेकिन लड़किया फर्जी में किसी लड़के को फंसाने को तैयार नहीं होती हैं।

यह रहा मामला

इस प्रकार का मामला थाना मोहम्दाबाद क्षेत्र के एक गांव का सामने आया है। पिछले महीने श्रीवास्तव लोगो की लड़की एक सामान्य घर के लड़के के साथ स्कूल से भाग गई थी। जिसकी उम्र 17 वर्ष की है। परिजनों ने थाने में लड़की भगाने का मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस द्वारा लड़का लड़की दोनों बरामद कर लिए गए। जब लड़की का पुलिस द्वारा मेडिकल परीक्षण कराने लोहिया महिला अस्पताल भेजा गया तो परिजनों ने लड़की के साथ बलात्कार हुआ इसकी सूचना मीडिया को दी। जब मीडिया के लोग वहां पहुंचे तो लड़की से बातचीत की तो लड़की ने पूरा बन्द कैमरे के सामने बोलने को तैयार हो गई। उसने बताया कि हम उस लड़के से प्यार करती हूं। हमारे घर वाले इस बात पर राजी नहीं हैं। इसी बजह से जूठा केस लगाना चाहते हैं।

परिजन कोई न कोई नया तरीका खोजने में लगे

जब युवती से पूंछा गया कि तुम्हारा अपहरण किया गया था तो लड़की ने साफ इंकार कर दिया। वहीं हाल थाना नबाबगंज क्षेत्र के गांव का है जहां पर आज से लगभग पांच माह पहले लड़की अपने प्रेमी के साथ चली गई थी लेकिन परिजन लड़के के ऊपर बलात्कार का केस करने के लिए हर प्रयास कर रहे है। इस प्रकार से पूरे जिले में दर्जनों मुकदमे हैं। जो लड़की भगाने के लिखे जा चुके है लेकिन उनको अपहरण व बलात्कार में तरमीम कराने के लिए परिजन कोई न कोई नया तरीका खोजने में लगे हुए हैं।

Ad Block is Banned