पति की लंबी उम्र के लिए सुहागिन महिलाओं ने रखा वट सावित्री व्रत, नव विवाहिताओं में भी दिखा उत्साह, देखें वीडियो

जनपद में अपने पति की लम्बी आयु के लिए सुहागिन महिलाएं आज के दिन वट वृक्ष की पूजा अर्चना की।

By: Mahendra Pratap

Published: 15 May 2018, 03:37 PM IST

फर्रुखाबाद. जनपद में अपने पति की लम्बी आयु के लिए सुहागिन महिलाएं आज के दिन वट वृक्ष की पूजा अर्चना की। सुहागिनों ने पति की लम्बी उम्र और सुख शांति के लिए वट वृक्ष की पूजा की। नव विवाहिताओं में वट सावित्री पूजा को लेकर खास उत्साह दिखाई दिया। वट वृक्ष को आम, लीची सरीखे मौसमी फल अर्पित करने, कच्चे सूत से बांधने और बियेन (हथ पंखा) से ठंडक पहुंचाने के बाद महिलाओं ने आस्था के साथ इसकी परिक्रमा की। पूजा के बाद वट सावित्री कथा भी सुनी जाती है।

ये भी पढ़ें - वट सावित्री पर बरगद के पेड़ की ऐसे करें पूजा, सत्यवान की तरह मिलेगा वरदान

पूरे दिन पूजा अर्चना करने में लगी महिलाएं

जेयष्ठ मास के आमावस्या के दिन पड़ने वाले इस पर्व मे सुहागिन महिलाओं ने पूजा की थाली सजाकर वट वृक्ष की वारह बार परिक्रमा की और फल फूल चढ़ाकर सुख समृद्धि और पति की लंबी आयु की कामना करती है।इस व्रत की महत्व का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि घरों से नई नवेली दुल्हनों के साथ सुहागिन महिलाएं बरगद पेड़ के नीचे पहुंच पूरे दिन पूजा अर्चना करने में लगी रहती दिखाई देती है।

वट सावित्री पूजन करना बेहद फलदायक

व्रत रखने वाली महिलाओं के अनुसार इस व्रत को सबसे पहले सावित्री ने अपने पति सत्यवान की प्राण को यमराज से वापस मांगकर लाई थी। जब से इस व्रत को सुहागिने करती चली आ रही है। वट सावित्री व्रत में महिलाएं 108 बार बरगद की परिक्रमा करती हैं। कहते हैं कि वट सावित्री पूजन करना बेहद फलदायक होता है। इस दिन महिलाएं सुबह से स्नान कर लेती हैं और सुहाग से जुड़ा हर श्रृंगार करती हैं। जब तक पानी नहीं पीती है। जब तक वह पूजन नहीं कर लेती है। आज के दिन महिलाए त्यौहार की तरह अपने अपने घरों में पक्का भोजन के साथ पकवान भी बनाती है। वट वृक्ष के पूजन में साल भर में जो 12 महीने होते हैं। उसके अनुसार सभी बस्तुए भी 12 ही चढ़ाई जाती है। कच्चे धागे का जनेऊ बनाकर उसको अपने गले मे धारण करती है।

ये भी पढ़ें - जानिए : आज इन राशि वालों के जीवन में जोश और उत्साह की होगी वृद्धि, चमक उठेगा भाग्य

पति पत्नी के झगड़ो में गिरावट

क्या हर महिला अपने पति की लम्बी आयु चाहती है या नही-समाज मे रोजाना हो रही घटनाओं को देखकर यही अंदाजा लगाया जा सकता है कि हर महिला अपने पति को प्रेम नही करती है। यदि पति पत्नी में प्रेम हो तो वह दहेज उत्पीड़न के मुकदमे में पति को दोषी नही बनाये या पति दहेज के लिए अपनी पत्नी को मौत के हबाले न करे। लेकिन ऐसा दिखाई नही देता है।इस सावित्री वट बृक्ष की कथा हर महिला को सुनाई जाए तो शायद समाज से पति पत्नी के झगड़ो में गिरावट आ सकती है। लेकिन ऐसा नही हो पा रहा है। जिस कारण घरो में विवाद के साथ पति भी परेशान बना रहता है।

 

Show More
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned