प्रेमिका की हत्याकर शव को जलाया, फिर खुद भी ट्रेन के आगे कूदकर दे दी जान

यूपी के फतेहपुर में एक प्रेमी ने पहले अपनी प्रेमिक की हत्या कर उसके शव को जला दिया, इसके बाद वह खुद भी जाकर ट्रेन से कट मरा। पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है।

फतेहपुर. यूपी के फतेहपुर में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां प्रेमिका का जलाकर मारने के बाद प्रेमी ने भी ट्रेन के नीचे कटकर अपनी जान दे दी। शुरुआत में मामला ऑनर किलिंग का लग रहा था, लेकिन प्रेमी की लाश मिलने के बाद छानबीन से पूरी घटना साफ हो गई। युवती के पिता ने भी प्रेमी के खिलाफ हत्या की तहरीर दी, जिसके बाद पुलिस उसे खोजबीन कर रही थी कि उसकी लाश रेल की पटरियों पर मिली।

 

फतेहपुर औंग थाना क्षेत्र के मकुआ खेड़ा गांव के नजदीक शनिवार की भोर में संपर्क मार्ग के किनारे खेत में युवती की झुलसी लाश मिलने के बाद दिन के करीब साढ़े नौ बजे एक युवक के ट्रेन से कटे चीथड़े मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। पुलिस की छानबीन के दौरान पता चला कि दोनों ही मकुआखेड़ा गांव निवासी प्रेमी युगल थे।

 

औंग थानाध्यक्ष केशव वर्मा ने बताया कि क्षेत्र के मकुआ खेड़ा गांव के पास जीटी रोड से महुआ खेड़ा गांव को जाने वाले संपर्क मार्ग पर गांव से दक्षिण दिशा में स्थित तालाब के किनारे रतीराम के खेत में एक 20 वर्षीय अज्ञात युवती का शव मिला। उन्होंने बताया कि युवती को पहले मारा फिर शिनाख्त मिटाने के लिए आग लगा कर जला दिया गया।

 

एसओ वर्मा के मुताबिक ग्रामीणों से शव की पहचान कराने के कोशिश के दौरान लड़की की पहचान मकुआखेड़ा गांव निवासी रामबाबू रैदास की बेटी 21 वर्षीय बेटी के रूप में हुई। शव के पास एक पिपिया का डक्कन और मोबाइल की बैटरी भी मिली। उन्होंने बताया कि युवती के मोबाइल फोन को तत्काल सर्विलांस पर लगवा कर पुलिस हत्या के दोषी को खोजने में जुट गई। इस बीच मृतका के पिता रामबाबू रैदास ने पड़ोसी स्वजातीय युवक मोनू उर्फ धीरेन्द्र पुत्र राजेश कुमार रैदास पर अपनी बेटी की हत्या का आरोप लगाते हुए उसके खिलाफ हत्रूा की नामजद तहरीर दी।

 

पिता की तहरीर पर पुलिस मुकदमा दर्ज कर युवक की गिरफ्तारी में जुट गई। उसके घर पहुंची पुलिस टीम को सफलता नहीं मिली। इसी बीच एक युवक के दिन के करीब साढ़े नौ बजे ट्रेन से कटकर मौत की सूचना मिली। पुलिस आरोपी युवक के पिता को अपने साथ लेकर घटना स्थल पर शव की पहचान कराने पहुंची। पिता ने शव की पहचान अपने पुत्र मोनू उर्फ धीरेन्द्र के रूप में की। एओ ने कहा है कि दोनों शवों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

By Rajesh Singh

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned