फतेहपुर में बड़ा हादसा, मकान ढहने से मां-बेटी की मौत, दो बच्चो की हालत गंभीर

यूपी के फतेहपुर में बारिश के चलते कच्चा मकान ढहने से मां-बेटी की मौत हो गई, जबकि दो बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर पहुंचे डीएम ने दैवीय आपदा राहत कोष से आठ लाख रुपये की मदद की संस्तुति की है।

फतेहपुर. रुक-रुककर हो रही बारिश के चलते यूपी के फतेहपुर में कच्चा मकान ढहने से उसके मलबे में दबकर मां-बेटी की दर्दनाक मौत हो गई, जबकि दो बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों को इलाजज के लिये सामुदायिक स्वस्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया। हालत गंभीर देखते हुए प्राथमिक उपचार बाद दोनों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। घटना की जानकारी मिलने पर उप जिला अधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंचे। उधर मौके पर जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक भी पहुंचे। डीएम ने मृतक परिवार को आठ लाख रुपये मी मदद का ऐलान किया।

 

बिंदकी कोतवाली क्षेत्र के घनवा खेड़ा गांव में बुधवार को कच्चा मकान ढह गया। ग्रामीणों ने मौके पर पहुचकर मलबा हटाया, लेकिन तब तक मलबे में दबकर सविता देवी उम्र 26 वर्ष पत्नी राहुल सोनकर तथा उनकी 5 साल की बेटी सुहानी की मलबे में दबकर मौत हो गई। राहुल सोनकर चार साल का बेटा आयुष और नौ माह की बच्ची भी मलबे की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना पर पहुची पीआरबी ने सभी को सीएचसी पहुंचाया, जहां चिकित्सक ने मां व बेटी के मृत होने की पुष्टी कर दी, जबकि गम्भीर रुप से घायल दोनों बच्चों की हालत नाजुक देख उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

 

हादसे की खबर पाते ही उपजिलाधिकारी आशीष कुमार सीएचसी पहुंचे। घायलों का हाल जानने के बाद राजस्व टीम को मौके पर भेजकर जांच कर आख्या मांगी है। उधर इस हादसे की खबर सुनते ही जिलाधिकारी संजीव सिंह और एसपी प्रशांत वर्मा भी मौके पर पहुंचे और वहां का जायजा लिया। डीएम ने उन्हें परिवार को आर्थिक मदद का भरोसा दिलाते हुए दैवी आपदा राहत कोष से पीड़ित परिवार को 8 लाख रुपए की धनराशि दिए जाने की संस्तुति भी की है।

By Rajesh Singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned