हाथरस की घटना पर राजनीति करने वाले, राजस्थान में साधू को जलाकर मारने पर चुपः साध्वी निरंजन ज्योति

  • साध्वी निरंजन ज्योति ने राहुल-प्रियंका से लेकर अखिलेश और मायावती पर बोला हमला
  • कहा हाथरस की घटना के नाम पर राजनीति कर रहा है विपक्ष
  • रेप और हत्या में भी भेद को बताया देश का दुर्भाग्य।

फतेहपुर. केन्द्रीय मंत्री सध्वी निरंजन ज्योति ने हाथरस की घटना पर विपक्ष पर दोहरा चरित्र अपनाने का आरोप लगाया है। उन्होंने हत्या और बलात्कार में भेद करने का आरोप लगाते हुए इसे देश का दुर्भाग्य बताया है। साध्वी निरंजन ने दावा किया है कि अखिलेश यादव और मायावती ने हाथरस की घटना पर तो बढ़-चढ़कर बयान दिये, लेकिन राजस्थान की घटना पर खामोश रहे। कांग्रेस शासित राज्य में साधू की जलाकर हत्या कर दी गई, वहां बलात्कार की घटना हुई। सवाल उठाया कि हाथरस जाने वाले राहुल गांधी और प्रियंका गांधी क्या राजस्थान में साधू को जलाकर मार डालने के बाद वहां गए। साध्वी ने विपक्ष पर हाथरस को लेकर बेवजह राजनीति करने का आरोप लगाया।

 

 

 

केन्द्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने योगी सरकार का बचाव करते हुए उन्हें विकास पुरुष बताया। उन्होंने कहा कि योगी सरकार में तेज गति से विकास हो रहा है। गांव-गांव तक बिजली पहुंची है और केन्द्र सरकर योजनाएं लागू कर रही है। बस यही बात विपक्ष हजम नहीं कर पा रहा है। सरकार के विकस कार्यों की बौखलाहट विपक्ष में साफ दिख रही है। कहा कि हाथरस कांड में मुख्यमंत्री ने तेजी से कार्रवाई की और एसआईटी से लेकर सीबीआई जांच तक की सिफारिश की। उस केस में रोज नए खुलासे हो रहे हैं। कोई छोड़ा नहीं जाएगा, जो भी दोषी होगा उसे नहीं बख्शेगी सरकार।

 

साध्वी निरंजन ज्योति हाथरस की घटना को लेकर योगी सरकार को घेरने में जुटी कांग्रेस, सपा और बसपा पर जमकर बरसीं। उन्होंने राहुल और प्रियंका गांधी को याद दिलाया कि कांग्रेस की सत्ता वाले राजस्थान में साधू को जलाकर मार दिया गया, हाथरस जाने वाले राहुल गांधी और प्रियंका गांधी राजस्थान नहीं गए। न तो अखिलेश और मायावती का कोई बयान आया। महाराष्ट्र के पालघर में भी दो संत और एक ड्राइवर के मारे जाने के बाद दोनों नेता वहां नहीं गए। हत्या और बलात्कार जैसे अपराधों को लेकर भी भेद करने का आरोप लगाते हुए इसे देश का दुर्भाग्य करार दिया।

 

साध्वी निरंजन ज्योति देवरिया में कैंडिडेट का विरोध कर रही टिकट की दावेदारी करने वाली कांग्रेस की महिला नेता के साथ पार्टी नेताओं द्वारा मारपीट करने की घटना को शर्मनाक बताया। उन्होंने कहा पीड़ित एक महिला हैं, इस नाते मुझे दुख है। पर राहुल और प्रियंका गांधी का इस घटना के बाद एक बयान तक नहीं आया। उन्होंने इसे कांग्रेस का दोहरा चरित्र करार दिया।

By Rajesh Singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned