यूपी पुलिस की शर्मनाक करतूत,  बुजुर्ग दिव्यांग को बना दिया भू माफिया

  यूपी पुलिस की शर्मनाक करतूत,  बुजुर्ग दिव्यांग को बना दिया भू माफिया
Disabled

हुसैनगंज थाना क्षेत्र का मोहद्दीपुर गांव के लोग पुलिस के खौफ में जीने को मजबूर

राजेश सिंह
फतेहपुर.  सूबे की योगी सरकार के  भू-माफिया के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश के बाद भी पुलिस इन पर लगाम लगाने में फेल साबित हो रही है। भू माफिया पर कार्रवाई करने के बदले पुलिस ऐसे लोगों कार्रवाई कर रही है, जो भू माफिया के जुल्म से त्रस्त हैं। ताजा मामला फतेहपुर की हुसैनगंज का है, जहां  पुलिस ने पांच मजदूरों को भू माफिया बना कर जेल भेज दिया और तो और गांव का एक सत्तर साल का दिव्यांग भी पुलिस की भू-माफिया की लिस्ट में शामिल है, जिसको जल्द ही जेल भेजने का अल्टीमेटम दिया गया है।

यह भी पढ़ें:
बीजेपी नेता के होटल में चल रही थी रेव पार्टी, पुलिस की छापेमारी में कई विदेशी लड़कियां और...


पुलिस की इस नापाक कार्यशैली के बाद महकमे के आला अफसरो ने थाना पुलिस की पीठ भी थपथपा दी, लेकिन जब  हकीकत सामने आई तो पुलिस विभाग के आला अफसरों के होश फाख्ता हो गए, अब पुलिस ने मामले में 16 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।


हुसैनगंज थाना क्षेत्र का मोहद्दीपुर गांव  के ग्रामीण पुलिसिया ख़ौफ़ के साए में जिंदगी जीने को मजबूर हो गए हैं। पुलिस का चाबुक अब किस ग्रामीण के ऊपर चलेगा इसको लेकर गांव के बच्चे महिलाएं तक दहशत में हैं। योगी सरकार ने भू-माफिया को प्रदेश छोड़ने का अल्टीमेटम दे दिया तो पूरी पुलिस हरकत में आ गई। नामी गिरामी भू-माफिया तो पुलिस के शिकंजे में आ नहीं पा रहे लेकिन ऐसे लोग जो दो जून की रोटी के लिए ईंट-भठ्ठों की मजदूरी करके पेट पालते हैं, वो भू-माफिया की लिस्ट में आ गए।





मोहद्दीपुर गांव के पांच लोगों का कसूर केवल इतना था कि पट्टे में 2 बिस्वा जमीन जो ग्राम समाज से मिली थी, उसका पट्टा रद्द हो गया और कब्जा बेदखली की नोटिस भी नहीं मिली, जिसके बाद पुलिस ने भू माफिया बना कर जेल  भेज दिया।
ग्रामीणों की माने तो जेल जाने वाले गुलाब,  भोला, हीरा लाल, सन्तोष,  राजेंद्र सभी ईंट भठ्ठे के मजदूर हैं। घर के बाहर  दरवाजे पर बैठी भोला की बुजर्ग मां अपने  बेटे की वापस आने की राह देख रही  है तो बेटे अजय की आंखों में पुलिस की त्रासदी दर्द झलक रहा है। भोला की पत्नी की मौत दस साल पहले हो  चुकी है, कमोवेश सभी का हाल यही है। पुलिस की कारस्तानी यही नहीं रुकती, 70 साल के दिव्यांग  भी पुलिस रिकार्ड में   भू-माफिया है। हालांकि मामले की हकीकत सामने आने के बाद पुलिस  ने  जल्द ही जमानत कराने का अल्टीमेटम दे दिया है।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned