चैत्र नवरात्रि के छटवें दिन होती है अमोघ फलदायनी इस माता की पूजा

इन माता की पूजा के बाद इस मंत्र का जप करने से होती है हर कामना पूरी

By: Shyam

Published: 29 Mar 2020, 01:47 PM IST

चैत्र नवरात्रि में नौ दिनों तक माँ दुर्गा भवानी के अलग-अलग रूपों की पूजा आराधना की जाती है। नवरात्रि के छटवें दिन अमोघ फल प्रदान करने वाली अलौकिक तेज से युक्त जगनमाता ऋषि कात्यायन की पुत्री माँ कात्यायनी की पूजा की जाती है। कात्यायनी माता की विधिवत पूजन करने से सभी भौतिक व आध्यात्मिक मनोकामनाओं की पूर्ति हो जाती है। इस चैत्र नवरात्रि के छटवें दिन 30 मार्च दिन सोमवार को माँ कात्यायनी की पूजा होगी। इस दिन खासकर शिक्षा क्षेत्र में रूचि रखने वाले लोगों को पूजन करना चाहिए।

चैत्र नवरात्रि के छटवें दिन होती है अमोघ फलदायनी इस माता की पूजा

माँ कात्यायनी दिव्य रुपा हैं जिनका शरीर सोने के समाना चमकीला है, सिंह की सवारी करने वाली इन माता की चार भुजा, एक हाथ में तलवार और दूसरे में अपना प्रिय पुष्प कमल लिए हुए है, एवं अन्य दो हाथ वरमुद्रा और अभयमुद्रा में हैं। पौराणिक कथा के अनुसार, एक वन में एक कत नाम के महर्षि रहते थे, उनका एक कात्य नाम का पुत्र था। जिन्होंने माँ आद्यशक्ति दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए कठोर तप किया।

चैत्र नवरात्रि के छटवें दिन होती है अमोघ फलदायनी इस माता की पूजा

महर्षि कात्यायन के तप से प्रसन्न होकर माँ जगदंबा भवानी ने उन्हें वरदान दिया की वे स्वयं उनके घर पुत्री रूप में जन्म लेंगी। जब धरती पर महिषासुर नामक असुर का आतंक चहु ओर बढ़ने लगा तब त्रिदेवों के तेज के रूप में महर्षि कात्यायन के घर पुत्री रूप में माँ दुर्गा ने जन्म लिया। महर्षि कात्यायन की पुत्री होने कारण इनका नाम देवी कात्यायनी पड़ा। इन्हीं कात्यायनी माता ने राक्षस महिषासुर का वध कर उसके आतंक से धरती को मुक्त किया। माता कात्यानी को नवरात्रि की षष्ठी तिथि के दिन मधु (शहद) का भोग लगाने माता अपने भक्त को सुंदर रूप प्राप्ति का आशीर्वाद देती है।

चैत्र नवरात्रि के छटवें दिन होती है अमोघ फलदायनी इस माता की पूजा

चैत्र नवरात्रि के छटवें दिन विधिविधान से माँ कात्यायनी का पूजन करने के बाद माता के इस मंत्र का जप 551 बार करने से अनेक कामनाएं पूरी हो जाती है।

माँ कात्यायनी मंत्र

चंद्र हासोज्ज वलकरा शार्दू लवर वाहना।

कात्यायनी शुभं दद्या देवी दानव घातिनि।।

***********

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned