scriptMargashirsha Purnima 2021 is two days, know what to do on which day | Margashirsha Purnima 2021: दो दिन पड़ रही है मार्गशीर्ष पूर्णिमा व्रत की तिथि, जानें किस दिन क्या करें? | Patrika News

Margashirsha Purnima 2021: दो दिन पड़ रही है मार्गशीर्ष पूर्णिमा व्रत की तिथि, जानें किस दिन क्या करें?

पूर्व जन्मों के पापों से मुक्ति मिलने के साथ ही पूर्ण होती हैं मनोकामनाएं

भोपाल

Updated: December 18, 2021 11:58:21 am

Margashirsha Purnima 2021: हिन्दू कैलेंडर के मार्गशीर्ष माह को अत्यंत पवित्र माना गया है। वहीं इस माह की पूर्णिमा यानि मार्गशीर्ष पूर्णिमा का भी विशेष महत्व है। माना जाता है कि इस दिन भगवान श्रीहरि विष्णु की पूजा व व्रत करने से पूर्व जन्मों के पापों से मुक्ति मिलने के साथ ही कई तरह की मनोकामनाएं भी पूर्ण होती है। ऐसे में इस बार पूर्णिमा तिथि 18 और 19 दिसंबर यानि 2 दिन की होने की वजह से भ्रम की स्थिति उत्पन्न हो रही है। जिसके चलते भक्त पूजा के दिन, व्रत और स्नान को लेकर संशय में हैं।

margashirsha purnima 2021
margashirsha purnima 2021

किस दिन क्या करें : Margashirsha Purnima 2021 Date and Time
ज्योतिष के जानकार पंडित एके शुक्ला के अनुसार इस साल यानि 2021 में पूर्णिमा तिथि आज शनिवार, 18 दिसंबर से शुरु हो रही है, जो रविवार, 19 दिसंबर तक रहेगी। ऐसे में जहां रविवार 19 दिसंबर को उदयातिथि के चलते स्नान-दान करना शुभ रहेगा, वहीं पूर्णिमा का चांद 18 दिसंबर की शाम को ही दिखाई देगा।

purnima

मार्गशीर्ष पूर्णिमा 2021 की तिथि : Margashirsh Purnima 2021 Tithi
मार्गशीर्ष की पूर्णिमा तिथि की शुरुआत शनिवार, 18 दिसंबर को 07:24 AM बजे से होगी, वहीं इसका समापन रविवार, 19 दिसंबर को 10:05 AM पर होगा। पंडित शुक्ला के अनुसार 18 दिसंबर की शाम को चंद्रोदय होने के कारण पूर्णिमा का व्रत इस दिन ही रखा जाएगा। जबकि रविवार, 19 दिसंबर स्नान-दान करना शुभ है।

ऐसे करें पूर्णिमा के दिन स्नान और ध्यान
पंडित शुक्ला के अनुसार हर पूर्णिमा की तरह ही मार्गशीर्ष पूर्णिमा में भी भगवान विष्णु की पूजा श्रेष्ठ मानी जाती है। ऐसे में इस दिन ब्रह्ममुहूर्त में स्नानादि नित्यकर्म के पश्चात सफेद वस्त्र धारण कर भगवान का ध्यान करते हुए व्रत का संकल्प लें और फिर फिर आचमन करना चाहिए।

Must Read- Datta Jayanti 2021: दत्तात्रेय जंयती कब है? जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और कथा

dutt_jyanti_2021 जिसके बाद साफ सफाई के पश्चात भगवान विष्णु की मूर्ति या चित्र को निश्चित स्थान पर स्थापित करते हुए ऊँ नमोः नारायण कहकर भगवान का आह्वान करें। और फिर भगवान को आसन, गंध और पुष्प आदि अर्पित करें।
इसके पश्चात पूजा स्थल पर वेदी बनाकर हवन के लिए उसमें अग्नि प्रज्जवलित करें। फिर हवन में तेल, घी और बूरा आदि की आहुति दें। और पूरे दिन भगवान विष्णु के मंत्रों का जाप करते रहें। अब रात के समय भगवान नारायण की मूर्ति के पास ही शयन करें। फिर व्रत के दूसरे दिन ब्राह्मण व जरुरतमंद व्यक्तियों को भोजन कराते हुए, क्षमता के अनुसार उन्हें दान-दक्षिणा देकर विदा करें। मार्गशीर्ष पूर्णिमा पर भगवान सत्यनारायण की पूजा व कथा की जाती है।
मार्गशीर्ष पूर्णिमा का धार्मिक महत्व : Importance of Margashirsh Purnima
पौराणिक मान्यता के अनुसार मार्गशीर्ष की पूर्णिमा पर भगवान विष्णु का व्रत और पूजा करने से जगत के पालनहार की विशेष कृपा प्राप्त होती है। इसके साथ ही इस दिन पवित्र नदी, सरोवर या कुंड में तुलसी की जड़ की मिट्टी से स्नान विशेष माना गया है। माना जाता है कि इस दिन किए गए दान का फल अन्य पूर्णिमा की तुलना में 32 गुना अधिक प्राप्त होता है, इसी कारण इसको बत्तीसी पूर्णिमा भी कहते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.