Nag panchami 2019: 20 साल बाद बन रहा बेहद शुभ संयोग, पूर्ण होगी सभी मनोकामनाएं

Nag panchami 2019: 20 साल बाद बन रहा बेहद शुभ संयोग,  पूर्ण होगी सभी मनोकामनाएं

Tanvi Sharma | Publish: Jul, 28 2019 01:29:24 PM (IST) त्यौहार

नाग देवता की पूजा की करने से जातक को मनोवांछित फल प्राप्त होता है

नाग पंचमी इस साल 5 अगस्त, सोमवार के दिन मनाई जाएगी। इस दिन नाग देवता की पूजा करने का विधान माना जाता है। नाग पंचमी ( Nag panchami ) इस बार महायोग बना रही है। पंडित रमाकांत मिश्रा के अनुसार इस बार नागपंचमी सोमवार के दिन पड़ रही है। इससे पहले ये योग 20 साल पहले 16 अगस्त 1993 को बना था। इस योग में यदि नाग देवता की पूजा की जाती है तो जातक को संपूर्ण व मनोवांछित फल प्राप्त होता है। नाग पंचमी पर सोमवार का यह विशेष संयोग मनुष्य को शांति प्रदान करेगा। वहीं नागपंचमी ( nag panchami 2019 ) के दिन शिव का रुद्राभिषेक पूजन और कालसर्प दोष का पूजन करना बहुत ही शुभ माना जाता है।

पढ़ें ये खबर - Sawan shiv puja: रात के समय शिवलिंग के पास जलाएं दीपक, होगा चमत्कारी लाभ

nag panchami 2019

नाग पंचमी शुभ मुहूर्त

पंचमी तिथि 4 अगस्त शाम 6.48 बजे शुरू होगी और 5 अगस्त दोपहर 2.52 बजे तक रहेगी।
नाग पूजा का समय
नाग पूजन का समय 5 अगस्त सुबह 6 से 7.37 तक और 9.15 से 10.53 तक रहेगा।

ऐसे करें नागदेव का पूजन

नागदेव की पूजा में हल्दी का प्रयोग अवश्य करें। धूप, दीप अगरबत्ती से पूजन करें एवं देवताओं के समान ही मीठा भोग प्रतीक रूप से लगाएं एवं नारियल अर्पण करें। एक बात याद रखें की हमेशा नाग देव की मूर्ति का पूजन करें ना की जिंदा नाग का, क्योंकि नाग का पूजन सदैव नाग मंदिर में ही करना श्रेष्ठ रहता है। पंडित जी के अनुसार जो नाग सपेरे लेकर आते हैं वे भूखे सांप होते हैं और इसलिए वह नाग दूध को पानी समझकर पीता है। सपेरे द्वारा नागों के दांतों तो तोड़ दिया जाता है, जिससे की वह शिकार करने लायक नहीं रहता। बाद में सांप को जंगल में छोड़ दिया जाता है और वह भूख से मर जाता है। तो ऐसे नाग की पूजा लाभकारी नहीं मानी जाती है।

पढ़ें ये खबर - Nag panchami: यदि किसी पेड़ पर लटकता या चढ़ता देख लें सांप, तो समझें आपके साथ होने वाला है ये...

nag panchami 2019

सांप के काटने से होती है अधोगति की प्राप्ति

गरुड़ पुराण के अनुसार सांप के काटे से हुई मृत्यु से अधोगति की प्राप्ति होती है। लेकिन कुछ तिथियों में सांप का काटना शुभ नहीं माना जाता जैसे- अष्टमी, दशमी, चतुर्दशी अमावस्या इन तिथियों में सांप यदि काटता है तो वह ठीक नहीं माना जाता।

ग्रहों के प्रतीक हैं सांप

अनन्त नाग- सूर्य, वासुकि- सोम, तक्षक- मंगल, कर्कोटक- बुध, पद्म- गुरु, महापद्म- शुक्र, कुलिक एवं शंखपाल- शनैश्चर ग्रह के रूप हैं।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned