Phulera Dooj 2021: फुलेरा दूज वह दिन जब भगवान श्रीकृष्ण फुलों से खेलते हैं होली

यह दिन भगवान श्री कृष्ण को समर्पित...

By: दीपेश तिवारी

Published: 15 Mar 2021, 10:45 AM IST

फुलेरा दूज एक ऐसा दिन, जिसे सीधे तौर पर श्री कृष्ण से जुड़ा माना जाता है, इसी कारण यह दिन भगवान श्री कृष्ण को समर्पित है। माना जाता है कि, फुलेरा दूज के दिन ही भगवान श्री कृष्ण फूलों के साथ होली खेलते हैं। ऐसे में लोगों ने भी इस प्रथा को निभाना शुरू कर दिया है। फुलेरा दूज का यह त्यौहार लोगों के जीवन में खुशियां, रंग और हर्षोल्लास ले करके आता है।

ऐसे में इस साल यानि 2021 में फुलेरा दूज का पर्व हिंदू पंचांग के अनुसार 15 मार्च फाल्गुन मास की शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को मनाया जाएग। इस दिन चंद्रमा मीन राशि में विराजमान रहेगा। फुलेरा शब्द फूल से बना है। फुलेरा दूज को होली के आगमन के प्रति के रूप में भी देखा जाता है क्योंकि इसी दिन से होली की तैयारियां शुरू हो जाती है।

फुलेरा दूज 2021 का शुभ मुहूर्त (Phulera Dooj 2021 Shubh Muhurat)
फाल्गुन द्वितीया आरंभ- 14 मार्च 2021 को शाम 05:06 मिनट से
फाल्गुन द्वितीया समाप्त- 15 मार्च 2021 को शाम 06:49 मिनट पर


इस पर्व पर विशेष आयोजन
मथुरा और बृज में फुलेरा दूज के पर्व पर विशेष आयोजन किए जाते हैं। इसी दिन होली को रखा जाता है, जिसे होलिका दहन के दिन शुभ मुहूर्त में अग्नि दी जाती है।


फुलेरा दूज पर अबूझ मुहूर्त का निर्माण
फुलेरा दूज को अबूझ मुहूर्त का निर्माण होता है। कहा जाता है कि, होली शुरू होने से तकरीबन 15 दिन पहले शादी के मुहूर्त समाप्त हो जाते हैं लेकिन, फुलेरा दूज के दिन शादियां होती हैं क्योंकि यह अबूझ मुहूर्त माना गया है। यानी कि इस दिन का हर एक पल शुभ होता है। ऐसी मान्यता है कि फुलेरा दूज शुभ कार्यों के लिए उत्तम होती है।

फुलेरा दूज के कुछ खास उपाय (Phulera Dooj Upay — मान्यता के अनुसार)
: यदि आपके वैवाहिक रिश्ते में किसी प्रकार की कोई समस्या उत्पन्न हो रही है या जीवनसाथी से मतभेद बढ़ता जा रहा है तो भी फुलेरा दूज के दिन राधा कृष्ण की पूजा करने से आपके जीवन साथी से आपका मनमुटाव दूर होता है।

: इसके अलावा जिन लोगों के विवाह में बाधा आ रही हो या जिनका रिश्ता बनते-बनते टूट जा रहा हो या अन्य कोई समस्या हो उन्हें विशेष तौर पर फुलेरा दूज के दिन राधा कृष्ण की पूजा करने की सलाह दी जाती है। इस दिन सुबह स्नान आदि से निवृत होकर मंदिर जाए और राधा कृष्ण की पूजा करें।

: जिन लोगों को प्रेम में सफलता नहीं मिल रही हो उन्हें फुलेरा दूज के दिन श्री कृष्ण मंदिर में जाकर भोजपत्र पर चंदन से अपने प्रेमी का नाम लिखकर उस भोजपत्र को श्री कृष्ण और राधा रानी के चरणों में रख देने की सलाह दी जाती है। इस उपाय को करने से आपको आपका प्रेम अवश्य मिलेगा।

: वैवाहिक जीवन में यदि लड़ाइयां बहुत हो रही हो तो फुलेरा दूज के दिन श्री कृष्ण मंदिर में जाकर आपको 5 केले अर्पित करने की सलाह दी जाती है। इसके बाद भगवान कृष्ण और राधा रानी से अपने जीवन में खुशहाली और प्रेम की प्रार्थना करें।

: अपनी प्रेमिका से विवाह करने के लिए फुलेरा दूज के दिन राधा कृष्ण मंदिर में जाकर राधा रानी को हरी चूड़ियां अर्पित करें। इसके अलावा जिन लोगों के प्रेम विवाह के रास्ते में विघ्न आ रहा हो या आपके घर परिवार वाले इस रिश्ते को मंजूर ना कर रहे हो तो आपको फुलेरा दूज के दिन राधा कृष्ण मंदिर में जाना है और यहां पीले वस्त्र, पीली मिठाई और पीले फूल अर्पित करने है। ऐसा करने से जल्द ही आपके प्रेम विवाह में आ रही सभी बाधा दूर होगी।

श्री कृष्ण मंदिरों में विशेष पूजन
कृष्ण मंदिरों में इस दिन विशेष पूजन किया जाता है।पौराणिक मान्यता है कि फुलेरा दूज के दिन भगवान श्रीकृष्ण फुलों से खेलते हैं। इस दिन को उल्लास के पर्व के रूप में भी मनाया जाता है। फुलेरा दूज को राधा और कृष्ण के मिलन की तिथि के रूप में भी मनाया जाता है।
मान्यता है कि इसी दिन राधा ने श्रीकृष्ण के साथ फूलों की होली खेली थी। इस दिन भगवान श्रीकृष्ण और राधा की पूजा करने से दांपत्य जीवन में मधुरता आती है और प्रेम बना रहता है।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned