संकष्टी गणेश चतुर्थी: मेष, कन्या, धनु और मीन राशि सहित सभी राशिअनुसार गणेश जी को प्रसन्न

संकष्टी गणेश चतुर्थी: मेष, कन्या, धनु और मीन राशि सहित सभी राशिअनुसार गणेश जी को प्रसन्न

Tanvi Sharma | Publish: Feb, 22 2019 01:10:30 PM (IST) त्यौहार

संकष्टी गणेश चतुर्थी: मेष, कन्या, धनु और मीन राशि सहित सभी राशिअनुसार गणेश जी को प्रसन्न

माघ मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को संकष्टी चतुर्थी व्रत रखा जाता है। चतुर्थी व्रत भगवान श्री गणेश को समर्पित होता है। इस बार संकष्टी चतुर्थी का व्रत 22 फरवरी, शुक्रवार के दिन है। संकष्टी चतुर्थी के दिन भगवान गणपति जी का विधि-विधान से पूजन करने पर सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और साथ ही सभी कष्ट भी दूर हो जाते हैं। पंडित रमाकांत मिश्रा बताते हैं की गणेश जी को इस दिन राशि अनुसार उपाय व पूजा कर जल्द ही प्रसन्न किया जा सकता है। साथ ही संकष्टी गणेश चतुर्थी के दिन गणेश पूजा के साथ-साथ व्यक्ति की सभी समस्याएं दूर होकर रोग, आर्थिक समस्या, भय, नौकरी, व्यवसाय, मकान, वाहन, विवाह, संतान, प्रमोशन आदि का आशीर्वाद प्राप्त होता है। आइए जानते हैं किस राशि वाले जातक को कौन सा उपाय व किस तरह पूजा करना चाहिए....

ganesh chaturthi 2019

मेष राशि:
मेष राशि वालों को 'वक्रतुण्ड' रूप में गणेश जी की आराधना करनी चाहिए और गुड़ का भोग लगाना चाहिए। इसके साथ ही भगवान गणेश को लगाए हुए भोग को स्वयं ना ग्रहण करें और सभी लोगों में बांट दें।

वृषभ राशि:
वृषभ राशि वालों को गणेशजी के 'शक्ति विनायक' रूप की आराधना करना चाहिए और घी मिश्री का भोग लगाएं। इसके साथ ही आपकी राशि वाले जातक इस दिन गणेश मंदिर में शुद्ध घी का दोमुखी दिया लगाएं और केसर का टीका लगाएं।

मिथुन राशि :
मिथुन राशि वाले गणेशजी की आराधना 'लक्ष्मी गणेश' के रूप में करें और मूंग के लड्डू का भोग लगाएं। इसके साथ ही इस दिन किसी गरीब व्यक्ति को काला कंबल दान दें, काम सुचारू चलेगा।

कर्क राशि:
कर्क राशि वालों को 'वक्रतुण्ड' रूप में गणेशजी की पूजा करना चाहिए और मोदक का भोग लगाएं। इसके साथ ही उन्हें सफेद चंदन का तिलक लगाएं और बुजुर्गों को कुछ भेंट करें।

सिंह राशि:
सिंह राशि वालों को 'लक्ष्मी गणेश' रूप में गणेशजी की पूजा-अर्चना करनी चाहिए और चतुर्थी के दिन गणेश जी को किशमिश का भोग लगाएं। इसके साथ ही इस दिन आप लाल रंग का रुमाल अपने पास रखें इससे आपके सभी रुके कार्य पूरे होंगे।

कन्या राशि:
कन्या राशि के लोग संकष्टी चतुर्थी के दिन गणेशजी के 'लक्ष्मी गणेश' रूप की आराधना करें। इसके साथ ही उन्हें सुखे मेवे का भोग लगाएं। इसके साथ ही इस दिन तुलसी की माला पहनें।

तुला राशि:
तुला राशि वाले लोगों को 'वक्रतुण्ड' रूप में गणेशजी की पूजा करना चाहिए और 5 नारियल का भोग लगाएं। इसके साथ ही गणेशजी के मंदिर में शुद्ध घी का दीया दिन में 11 बजे के पूर्व जिस किसी दिन मन करें लगाकर आएं।

वृश्चिक राशि:
वृश्चिक राशि वाले जातक को संकष्टी चतुर्थी के दिन 'श्वेतार्क गणेश' रूप की पूजा करनी चाहिए और गणेश जी को लाल फूल अर्पित करना चाहिए। इसके अलावा इस दिन केले के पेड़ की पूजा करें और जल चढ़ाएं। कभी भी नशा न करें।

धनु राशि:
धनु राशि के जातक इस दिन 'ॐ गं गणपते मंत्र' का जप करना चाहिए और बेसन के लड्डुओं का भोग लगाना चाहिए। इसके साथ ही इस दिन पीले वस्त्र के आसन पर गणेशजी को ईशान कोन में विराजमान कर उनके समक्ष गुरुवार को घी का शुद्ध दीपक लगाएं।

मकर राशि:
मकर राशि के जातकों को चतुर्थी के दिन 'शक्ति विनायक' गणेश की आराधना करना चाहिए और इलायची व लौंग अर्पित करना चाहिए। इसके अलावा गणेश, लक्ष्मी या विष्णु मंदिर में पीले फूल चढ़ाएं।

कुंभ राशि:
कुंभ राशि वालों को भी 'शक्ति विनायक' गणेशजी की पूजा करना चहिए और मंत्र की एक माला रोज जपना चाहिए। इसके अलावा ध्यान रखें कि आपके यहां से कोई भूखा न जाएं और भोजन में कभी भी ऊपर से नमक न डालें।

मीन राशि:
मीन राशि वाले जातक 'हरिद्रा गणेश' की पूजा करना चाहिए और पूजा के दौरान शहद और केसर का भोग लगाएं। इसके अलावा गणेश मंदिर में प्याऊ के लिए पैसा दान करें।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned