scriptshani jayanti : puja upay in hindi | शनि जयंतीः ये फूल है शनि देव को सबसे अधिक प्रिय | Patrika News

शनि जयंतीः ये फूल है शनि देव को सबसे अधिक प्रिय

विशेष शनि पूजा

भोपाल

Updated: May 22, 2020 12:31:16 pm

आज शुक्रवार 22 मई को शनि देव की जयंती मनाई जा रही है। हर साल ज्येष्ठ मास की अमावस्या तिथि को शनि जयंती का पर्व मनाया जाता है। आज का दिन शनि पूजा के सर्वोत्तम दिन माना जाता है, अगर आपके जीवन में बार-बार एक के बाद दूसरी समस्या आ रहो ही हो, या फिर सालों से कोई ऐसी समस्या है जो दूर होने का नाम ही नहीं ले रही तो अब घबराने की जरूरत नहीं। आज शनि अमावस्या शनि जयंती के दिन ये उपाय जरूर करें।

शनि जयंतीः ये फूल है शनि देव को सबसे अधिक प्रिय
शनि जयंतीः ये फूल है शनि देव को सबसे अधिक प्रिय

आज सूर्यास्त के समय करें शनि देव का तेल से इस विधि से अभिषेक

वैसे तो कुछ लोग हर दिन या फिर शनिवार-मंगलवार के दिन शनि देव की कृपा एवं शुभ फल पाने के लिए विशेष पूजा अर्चना करते हैं, लेकिन शनि जयंती का दिन शनि पूजा के लिए बहुत खास माना जाता है। अगर इस दिन शनि के चरणों में उनको अधिक प्रिय लगने वाले इन फूलों के चढाने से वे शीघ्र प्रसन्न होकर अपने भक्तों को समस्याओं से मुक्त कर कामनाएं भू पूरी कर देते हैं।

शनि जयंतीः ये फूल है शनि देव को सबसे अधिक प्रिय

शनि जयंती के दिन शनि शाम के समय शनि मंदिर या अपने घर में ही विधिवत पूजन करने के बाद शनि देव के चरणों में केवल नीले रंग के 5 फूल एवं काले तिल के 21 दाने चढ़ा दें। ऐसा करने से शनि देव शीघ्र प्रसन्न होकर हर मनोकामना पूरी कर देते हैं।

शनि जयंतीः ये फूल है शनि देव को सबसे अधिक प्रिय

ये चीजें चढ़ाएं शनि के चरणों में-

1- शमी के पत्ते- शनि देव को शमी के पत्ते सबसे अदिक प्रिय है, ये पत्ते से शनिदेव तुरंत खुश हो जाते हैं।

2- नीले फूल- शनि को अपराजिता के फूल चढ़ाएं। ये फूल नीले होते हैं। शनि नीले वस्त्र धारण किए रहते हैं और उन्हें नीला रंग प्रिय है। इसी वजह से शनि को ये फूल चढ़ायें जाते हैं।

3- काले तिल- काले तिल का कारक शनि है। शनि को काली चीजें प्रिय है। इसी वजह से शनि की पूजा में काले तिल भी चढ़ाए जाते हैं।

4- सरसों का तेल- शनि को तेल चढ़ाने की परंपरा बहुत पुराने समय से चली आ रही है और अधिकतर लोग शनिवार को तेल का दान भी करते हैं और शनि का अभिषेक भी करते हैं।

शनि जयंतीः ये फूल है शनि देव को सबसे अधिक प्रिय

इस शनि मंत्र का जप भी 21 बार जरूर करें-

कोणस्थ पिंगलो बभ्रु: कृष्णो रौद्रोन्तको यम:।

सौरि: शनैश्चरो मंद: पिप्पलादेन संस्तुत:।।

*********

शनि जयंतीः ये फूल है शनि देव को सबसे अधिक प्रिय

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

मंकीपॉक्स पर WHO की आपात बैठक में अहम खुलासा: यूरोप में अब तक 100 से अधिक मामलों की पुष्टि, जानिए 10 अपडेटकैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीफिर महंगी हुई CNG: राजस्थान में दाम सबसे अधिक, Diesel - CNG के दाम में अब मात्र 12 रुपए का अंतर'मैं क्रिकेट खेलना छोड़ दूंगा'- Virat Kohli ने रिटायरमेंट का संकेत देकर चौंकायाअकाली दल के दिग्गज नेता व पंजाब के पूर्व मंत्री तोता सिंह का निधन, सरपंच से पार्टी प्रेसिडेंट तक ऐसा था सफरभीषण सडक़ हादसा: पूर्व सांसद के भतीजे समेत 4 की मौत, गैसकटर से काटकर निकाले गए शव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.