Shiv abhishek : सावन में गन्ने के रस से करें शिव अभिषेक, होगा चमत्कारी लाभ

Shiv abhishek : सावन में गन्ने के रस से करें शिव अभिषेक, होगा चमत्कारी लाभ

Tanvi Sharma | Updated: 18 Jul 2019, 11:59:39 AM (IST) त्यौहार

सावन में शिव जी को प्रसन्न करने के लिए की जाती है विशेष पूजा-अर्चना

सावन में शिव जी की पूजा का विशेष महत्व माना जाता है। इस महीने में शिव जी अपने भक्तों पर कृपा बरसाते हैं और उनकी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। भक्त शिव जी को प्रसन्न करने के लिए विशेष पूजा अर्चना की जाती है। लेकिन आपको बता दें की जैसे हर व्यक्ति कि मनोकामना एक नहीं होती है उसी प्रकार शिव जी का अभिषेक ( sawan shiv abhishek ) भी एक प्रकार का नहीं होता है। पंडित रमाकांत मिश्रा ने बताया की अपनी मनोकामना के अनुसार अलग-अलग पदार्थों से शिव जी का अभिषेक ( sawan me shiv abhishek ) करने से अलग-अलग मनोकामनाएं पूरी होती है। आइए जानते हैं किस कामना के लिए भगवान शिव का किस चीज़ से अभिषेक करें...

पढ़ें ये खबर - Sawan 2019: सावन शिवरात्रि और नागपंचमी पर बन रहा अद्भुत संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और तारीख

shiv abhishek

1. सौभाग्य वृद्धि
भगवान शिव का गंगाजल या शुद्ध जल से अभिषेक करें, सौभाग्य वृद्धि होगी

2. गृह शांति तथा लक्ष्मी प्राप्ति
गाय के दूध से शिव जी का अभिषेक करें, गृह शांति के साथ लक्ष्मी की प्राप्ति होगी।

3. मनोवांछित फल की प्राप्ति के लिए
पंचामृत से शिव जी का अभिषेक करें, मनोवांछित फल की प्राप्ति होगी।

4. शत्रुओं के नाश
सरसों के तेल से शिव जी का अभिषेक करें, शत्रुओं का नाश होगा।

5. बुद्धि प्राप्ति
मीठा जल या दुग्ध से शिव जी का अभिषेक करने से बुद्धि प्राप्ति होती है।

6. वंश वृद्धि
घी से करें शिव जी का अभिषेक, होगी वंश वृद्धि

7. लक्ष्मी तथा ऐश्वर्य प्राप्ति
गन्ने का रस या फलों का रस, इन दोनों में से किसी एक चीज़ से शिव जी का अभिषेक करने से लक्ष्मी व ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।

sawan shiv abhishek

ऐसे करें शिवजी का पूजन ( shiv pooja in sawan )

शिव पूजन का विधान श्रावण मास के प्रत्येक सोमवार को करें और अंतिम सोमवार को गाय के घी में कपूर मिला कर महामृत्युंजय मंत्र से 108 आहुति अग्नि में दें और रुद्राक्ष माला को गले में धारण कर लें। इसके अतिरिक्त श्रावण मास में प्रतिदिन गंगा जल में गाय का दूध मिला कर शिवलिंग का अभिषेक कर चन्दन, अक्षत, पुष्प, धूप, दीप, नैवेद्य, फल चढ़ाएं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned