आरक्षण के बाद सरकार अब छोटे कारोबारियों के लिए कर सकती है खास एेलान, सस्ता ब्याज दर आैर मुफ्त बीमा का दे सकती है तोहफा

सरकार छोटे कारोबारियों का जल्द ही बेहद सस्ते ब्याज पर लोने देने आैर मुफ्त बीमा जैसी सुविधाआें की घोषणा कर सकती है इसमें सस्ता कर्ज , ब्याज में 2 फीसदी तक की छूट दी जा सकती है।

Ashutosh Kumar Verma

January, 1107:54 PM


नर्इ दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मोदी सरकार हर वर्ग को लुभाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। अब खरब आ रही है कि आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को आरक्षण के बाद मोदी सरकार छोटे कारोबारियों को बड़ा राहज पैकेज देने की तैयारी में है। सीनीबीसी आवाज को मिली जानकारी के मुताबिक, सरकार छोटे कारोबारियों का जल्द ही बेहद सस्ते ब्याज पर लोने देने आैर मुफ्त बीमा जैसी सुविधाआें की घोषणा कर सकती है इसमें सस्ता कर्ज , ब्याज में 2 फीसदी तक की छूट दी जा सकती है।


मुफ्त में मिलेगा दुर्घटना बीमा

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, यह छूट देने के लिए सरकार टर्नआेवर की अधिकतम सीमा तय करेगी। साथ ही सरकार महिला कारोबारियों को अधिक रियायत दे सकती है। यह फायदा केवल जीएसटी रजिस्टर्ड कारोबारियों को ही देगी। इस योजना में सरकार ने मुफ्त दुर्घटना बीमा की सुविधा देने का भी प्रस्ताव रखा है। इस दुर्घटना बीमा की रकम 5 से 10 लाख रुपए तक हो सकती है। यह रकम कारोबारी के टर्नआेवर के आधार पर तय होगी।


कारोबारियों को मिल सकता है वृद्धापेंशन

इसके अतिरिक्त, सरकार कारोबारियों को वृद्धापेंशन की सुविधा भी दे सकती है। इसके लिए सरकार ट्रेडर्स वेलफेयर बोर्ड का गठन करने के लिए प्रस्ताव भी लाएगी। इस बोर्ड में सरकार आैर कारोबारियों को प्रतिनिधि भी सम्मिलित होंगे। इस वेलफेयर बोर्ड के माध्यम से पेंशन का भुगतान संभव होगा। साथ ही डिजिटाइजेशन को बढ़ावा देने के लिए सरकार डिजिटल ट्रांजैक्शन करने पर बैंक चार्ज से छूट की घोषणा कर सकती है। कंप्यूटर एवं आधुनिक सुविधाआें के लिए सस्ते कर्ज भी देने का एेलान कर सकती है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

Goods and Services Tax GST
Show More
Ashutosh Verma Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned