कोरोना वायरस से लडऩे को आरबीआई का बड़ा ऐलान, एक लाख करोड़ रुपए की मदद

  • बैंकों के दबाव को कम करने के लिए रिजर्व देगा राहत पैकेज
  • सोमवार को दिए 50000 करोड़, दूसरी किस्त आज की जाएगी जारी

Saurabh Sharma

24 Mar 2020, 12:19 PM IST

नई दिल्ली। कोराना वायरस की वजह से देशभर में लॉकडाउन की स्थिति हो गई है। देश के 30 राज्यों एवं केंद्र शासित राज्यों के 500 से ज्यादा लॉक डाउन कर दिया है। ऐसे में कहीं बैंकिंग सेक्टर चरामरा ना जाए, इसके लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने बड़ा ऐलान कर दिया है। आरबीआई ने बैंकिंग सिस्टम में एक लाख करोड़ रुपए छोडऩे का ऐलान किया है। जिसके तहत 50 हजार करोड़ रुपए सोमवार को ही जारी कर दिए थे। 50 हजार करोड़ रुपए आज यानी मंगलवार को जारी किए जाएंगे। रिजर्व बैंक के अनुसार बैंकों में पर्याप्त कैश रहे और देश के लोगों को कोई दिक्कत ना हो इसके लिए जारी किया गया है।

यह भी पढ़ेंः- Coronavirus Lockdown के बीच सरकार का बड़ा फैसला, 8 रुपए तक बढ़ सकते हैं पेट्रोल और डीजल के दाम

तंगी दूर करने के लिए उठाया कदम
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के अनुसार देश में नकदी की कमी को दूर करने का सॉल्यूशन किया जा रहा है। कोरोना वायरस की वजह से देश और लोगों के तंगी बढ़ी है। जिसे दूर करने के लिए एक लाख करोड़ रुपए बैंकिंग सिस्टम में डाले गए हैं। रिजर्व बैंक ने बताया कि इस एक लाख करोड़ को लाने के लिए वो रेपो दरों की नीलामी करेगा। रिजर्व बैंक के अनुसार उसका यह फैसला बैंकों को सस्ती दर पर धन उपलब्ध करााएगा। जिसकी वजह से बैंकिंग सिस्टम में कैश की मौजूदगी बढ़ेगी।

यह भी पढ़ेंः- Share Market में उठापठक जारी, रुपया फिसला, Crude Oil के दाम में गिरावट

एनबीएफसी को भी दी राहत
आरबीआई ने वित्त वर्ष 2020-21 में एनबीएफसी को बैंक कर्ज मुहैया करवाने के लिए प्राथमिकता सेक्टर के वर्गीकरण को बढ़ा दिया है ताकि संकटग्रस्त इस सेक्टर को तरलता बनाए रखने में मदद मिलेगी। आरबीआई के दिनांक 13 अगस्त 2019 के एक आदेश के अनुसार, कर्ज के लिए प्राथमिकता सेक्टर का टैग बैंकों द्वारा पंजीकृत एनबीएफसी को 31 मार्च 2020 तक दिया जाएगा। बैंक ने कहा था कि उसके बाद पात्रता की समीक्षा की जाएगी। इसमें बदलाव को लकर बैंकों के चेयरमैन, प्रबंध निदेशक व सीईओ को लिखे एक पत्र में आरबीआई ने कहा कि कर्ज के मॉडल के तहत दिया जाने वाला कर्ज प्राथमिकता सेक्टर के तहत कर्ज के पुनर्भुगतान व परिपक्वता की तारीख तक जारी रहेगी।

Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned