Compare SSY and PPF: निवेश से पहले जान लें ब्याज सहित सभी जरूरी बातें

Compare SSY and PPF: इसको लेकर असमंज में हैं तो फाइनेंशियल एक्सपर्ट के अनुसार ये सब टाइमिंग की बात है कि किससे ज्यादा लाभ कमाया जा सकता है। हालांकि सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) में ब्याज कि दर ज्यादा होती है तो वह एक अधिक लाभ देने वाला निवेश हो सकता है और आपकी बेटी को एक आर्थिक रूप से एक सुरक्षित भविष्य दे सकता है।

By: Sonu Sharma

Updated: 22 Jul 2021, 11:40 AM IST

नई दिल्ली। SSY ( सुकन्या समृद्धि योजना) vs PPF (पब्लिक प्रोविडेंट फंड) में से सबसे अधिक ब्याज SSY में मिलता है, लेकिन अगर इन्वेस्टमेंट एक्सपर्ट्स की मानें तो यह सब कुछ समय पर निर्भर करता है की आप SSY से ज्यादा लाभ ( Compare SSY and PPF ) कमा सकते है या PPF से। यह दोनों योजनाएं भारत सरकार की तरफ से शुरू की गई हैं। इन योजनाओं में बेटियों के लिए और मिडिल क्लास लोगों के लिए एक अच्छे भविष्य की बचत के लिए निवेश किया जा सकता है।

READ MORE:- PPF: लॉन्ग टर्म में निवेश के लिए ये है बेहतर विकल्प, 15 साल में 1 करोड़ पाने का मौका

SSY (सुकन्या समृद्धि योजना)

SSY में बेटी के जन्म के बाद 15 साल तक पैसा जमा कराया जा सकता है। यह योजना पाने के लिए भारी राशि जमा कराने की आवश्यकता नहीं है। इसके निवेश की शुरुआत 250 रुपए से ही की जा सकती है, लेकिन कोई ज्यादा राशि जमा कराना चाहता है तो वह 1.50 लाख रुपए तक जमा करा सकता है। सुकन्या समृद्धि योजना में पैसा जमा कराने का सबसे बड़ा फायदा यह है की इस योजना में ब्याज पीपीएफ से ज्यादा मिलता है। SSY में ब्याज की दर 7.6% होती है जो अन्य निवेश के सुरक्षित साधनों से ज्यादा है।

यह माता-पिता की बेटी की शादी और पढ़ाई के खर्चे को कम करती है, जिसके कारण उन्हें बाद में लोन तक लेना पड़ता है। इसलिए 15 साल तक इस योजना में पैसा जमा कराया जाता है और उसके बाद 16वें साल से लेकर 21 साल तक किसी प्रकार का पैसा जमा नहीं कराया जा सकता।लेकिन इन पैसों पर ब्याज 21 साल तक मिलता रहता है। अगर चाहें तो 18 साल के बाद 50% राशि निकली जा सकती है। 21 साल बाद पूरी राशि ब्याज सहित मिल जाती है।

READ MORE:- 21 साल की उम्र में बेटी को मिलेगे 21 लाख रुपए, सिर्फ 250 रुपए में खोले SSY account

PPF (पब्लिक प्रोविडेंट फंड)

PPF एक बेहतर निवेश का साधन हो सकता है क्योंकि PPF में निवेश करने से कई तरह के फायदे हो सकते है, जैसे आयकर में छूट, सरकारी गारंटी आदि। PPF खाते की मैच्योरिटी 15 साल की होती है लेकिन अगर चाहे तो उसको 5 साल के लिए आगे बढ़ाया जा सकता है। हालांकि इस खाते में मिनिमम 500 रुपए और मैक्सिमम 1.50 लाख तक ही जमा कराया जा सकता है। इसमें जमा करने पर आयकर कि धारा 80C के तहत 1.50 लाख तक की छूट भी मिलती है।

लेकिन ध्यान रहे आयकर में इस छूट में पूरी 1.50 लाख की छूट नहीं मिलती है। इसके लिए आयकर का नियम है कि जो राशि आपने PPF खाते में जमा कराई हो और 1.50 लाख रुपए जो इनमें कम हो उतनी छूट ही आपको मिलेगी। यानी PPF खाते में आपने 50 हजार जमा कराए तो आपको 1.50 लाख नहीं 50 हजार ही आयकर छूट मिलेगी। इस खाते में 7.1 % की दर से ब्याज मिलता है।

SSY vs PPF, कहा करना चाहिए निवेश

अगर SSY और PPF में से एक को चुनना चाहिए तो संभवतः आप SSY को ही चुनेंगे क्योंकि उसमे ब्याज दर PPF के मुकाबले ज्यादा है लेकिन आपको कुछ हिस्सा PPF में भी करना चाहिए यह कहना है विशेषज्ञों का, जो मानते हैं 15 साल के लिए PPF में निवेश एक अच्छा लाभ हो सकता है।

Show More
Sonu Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned