गोल्डमैन सैश ने जारी की रिपोर्ट, कहा - दिसंबर की बैठक के बाद थम जाएगा ब्याज दरों में कटौती का सिलसिला

गोल्डमैन सैश ने जारी की रिपोर्ट, कहा - दिसंबर की बैठक के बाद थम जाएगा ब्याज दरों में कटौती का सिलसिला

Shivani Sharma | Updated: 07 Oct 2019, 09:37:20 AM (IST) फाइनेंस

  • आरबीआई ने शुक्रवार को ब्याज दरों में कटौती की
  • दिसंबर के बाद RBI रोक देगा ब्याज दर में कटौती का सिलसिला

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक दिसंबर की द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा में भी ब्याज दरों में कटौती कर सकता है। ब्रोकरेज कंपनियों का मानना है कि दिसंबर में केंद्रीय बैंक रीपो दर में चौथाई फीसदी की और कटौती करेगा, उसके बाद वह कटौती का सिलसिला रोक देगा। रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने शुक्रवार को रेपो रेट को 0.25 फीसदी घटाकर 5.15 फीसदी कर दिया है।


गोल्डमैन सैश ने जारी की रिपोर्ट

गोल्डमैन सैश ने एक रिपोर्ट में कहा, ‘हमें इस बात की काफी संभावना दिख रही है कि रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति दिसंबर की मौद्रिक समीक्षा में रेपो रेट को चौथाई फीसदी और घटाकर 4.90 फीसदी पर लाएगी। यह अक्टूबर में अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व द्वारा दरों में अतिरिक्त कटौती के हमारे अनुमान से मेल खाता है।’ केंद्रीय बैंक ने कहा है कि वह वृद्धि को प्रोत्साहन देने तक इस नरम रुख को जारी रखेगा।


एक बार फिर हो सकती है कटौती

रिपोर्ट में कहा गया है कि दिसंबर के बाद रिजर्व बैंक नीतिगत दर में कटौती के सिलसिले को रोकेगा, क्योंकि उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति चार फीसदी के करीब रहेगी, जिससे दरों में और कटौती की गुंजाइश नहीं बनेगी। उसके बाद मौद्रिक नीति समिति देखेगी कि मौद्रिक रुख में नरमी का क्या असर हुआ है। साथ ही सरकार ने जो घोषणाएं की हैं, उनका क्या प्रभाव पड़ा है।


घटाया जीडीपी अनुमान

इसके अलावा रिजर्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष के लिए जीडीपी ग्रोथ का अनुमान 6.9 फीसदी से घटाकर 6.1 फीसदी कर दिया है। आपको बता दें कि रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में कटौती का फैसला इसलिए लिया है कि देश में महंगाई दर पर काबू पाया जा सके।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned