अगर आप भी मासिक सैलरी वाले हैं, तो ऐसे करें बचत

alok kumar

Publish: Sep, 04 2017 01:10:00 (IST)

Finance
अगर आप भी मासिक सैलरी वाले हैं, तो ऐसे करें बचत

हम आपको एक एक्शन प्लान के बारे में बता रहे हैं, जिससे निवेश करने के इच्छुक लोगों को पहली बार में इसे आदत बनाने में मदद मिलेगी।

नई दिल्ली। लोगों को जब सैलरी मिलती है, तो वह सबसे पहले क्या करते हैं? सभी बिलों को भरते हैं और सभी खर्चों को निपटाते हैं। कभी-कभी जरूरी होता है कि इन सभी के बारे में सोचना बंद करें और खुद से एक आसान सा सवाल पूछें - आपको सैलरी मिल गई, लेकिन क्या आपने खुद को भुगतान किया? यदि आप पहले खुद को भुगतान नहीं कर रहा है, तो वह सिर्फ खर्चों के लिए जी रहे हैं।


खुद का भुगतान शुरू करें

बचत वह चीज है, जो लोग अपने कमाए गए पैसे से खुद को भुगतान करते हैं। यह सैंकड़ों रुपए हो सकते हैं या फिर आपकी सैलरी का 20 से 30 प्रतिशत। यदि व्यक्ति अपने खर्चों के लिए जीने के बजाय खुद के लिए जीता है, तो यह सबसे पहला कदम होना चाहिए। तो फिर क्यों ना इस महीने से ही अपने खर्चों के बजाय खुद को भुगतान करना शुरू करें। अपने लिये बचत करना आजादी की दिशा में पहला कदम है। तो अब सवाल यह है कि आप अपनी सैलरी से बचत कैसे कर सकते हैं? हम आपको एक एक्शन प्लान के बारे में बता रहे हैं, जिससे निवेश करने के इच्छुक लोगों को पहली बार में इसे आदत बनाने में मदद मिलेगी।


1,000 रुपए एक सिप (सिस्टैमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान) शुरू करने के लिए न्यूनतम राशि है। एक डेट म्यूचुअल फंड में 1,000 रुपए से एसआइपी शुरू करना एक स्मार्ट आइडिया है। बैंक खाते में पैसा जमा रखने के बजाय सिप में निवेश करना एक आदर्श विकल्प है। हमारी सलाह है कि आप सैलेरी पाने के बाद हर महीने एसआइपी के लिए एक निर्देश सेट करें, ताकि आप इस पैसे को खर्च नहीं कर पाएं। 6 महीने या एक साल तक ऐसा करते रहें। बचत की आदत खुद ब खुद हो जाएगी।


निवेश में इक्विटी को शामिल करें

यदि किसी व्यक्ति के पास हर महीने 2,000 रुपए बचाने की क्षमता है, तो हमारी सलाह है कि आप इस राशि को डेट एवं इक्विटी म्युचुअल फंड्स के बीच बांट दें। डेट फंड्स में बचाई गई राशि इमरजेंसी फंड के रूप में काम आएगी, जिसे जरूरत पडऩे पर निकाला जा सकता है। इक्विटी फंड्स में बचाई गए पैसे लंबी अवधि की जरूरतों में काम आ सकते हैं। आपको कम-से-कम अगले 5-7 सालों तक इसमें निवेश करने के लिए तैयार रहना चाहिए। पहली सैलरी से ही इक्विटी में निवेश कर आप कम्पाउंडिंग का लाभ उठा सकते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned