कब्रिस्तान में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को मारना पड़ा छापा, लाशों की ढेर से बरामद हुआ 433 करोड़ का खजाना

कब्रिस्तान में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को मारना पड़ा छापा, लाशों की ढेर से बरामद हुआ 433 करोड़ का खजाना

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Feb, 08 2019 04:10:33 PM (IST) | Updated: Feb, 08 2019 04:14:00 PM (IST) फाइनेंस

जनवरी माह के अंतिम सप्ताह में आयकर विभाग ने तमिलनाडु के चेन्नर्इ व कोयंबटूर स्थित मशहूर सर्वणा स्टोर, लोटस ग्रुप व जी स्काॅवयर के करीब 72 कार्यालयों पर छापा मारा था। इन तीनों कंपनियों के मालिकों ने पैसे व हीरे जवाहरात को एक कब्रिस्तान में छुपा दिया था।

नर्इ दिल्ली। तमिलनाडु में आयकर छापेमारी का एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। बीते कुछ दिनों में आयकर विभाग के अधिकारियों को एक कब्रिस्तान में छोपेमारी करनी पड़ी। आयकर विभाग के अधिकारियों ने तीन कंपनियों पर छापा मारा है। दरअसल, टैक्स चाेरों ने तो पहले पैसों की हेराफेरी की, कंप्यूटर से रिकाॅर्ड को हटाया आैर फिर पैसों को डिलीवरी वैन को कब्रिस्तान में बंद कर दिया। बता दें कि जनवरी माह के अंतिम सप्ताह में आयकर विभाग ने तमिलनाडु के चेन्नर्इ व कोयंबटूर स्थित मशहूर सर्वणा स्टोर, लोटस ग्रुप व जी स्काॅवयर के करीब 72 कार्यालयों पर छापा मारा था। इन तीनों कंपनियों के मालिकों ने पैसे व हीरे जवाहरात को एक कब्रिस्तान में छुपा दिया था।


एसयूवी कार में छुपार्इ रकम

गत 28 जनवरकी काे मारे गए छापे में आयकर विभाग को कुछ खास सफलता हाथ नहीं लगी। आयकर विभाग द्वारा छापा मारने की खबर कंपनी के मालिकों को पहले ही मिल गर्इ थी जिसके बाद वे सतर्क हो गए है। यही कारण रहा कि आयकर विभाग को 28 जनवरी को छापेमारी के दौरान कुछ खास सफलता हाथ नहीं लगी। हालांकि, इस दौरान इन तीनों कंपनियों के मालिकों ने अपने अधिकतर पैसों, सोना व हीरे को एक एसयूवी कार में छुपाकर शहर भर में दौड़ाया।


कब्रिस्तान से हुर्इ 433 करोड़ की संपत्ति बरामद

जैसे आयकर विभाग को इस बात की सूचना मिली तो उन्होंने इस गाड़ी को खोजना शुरू कर दिया। इस गाड़ी को जब पुलिस की मदद से ढूंढ निकाला गया तो इसमें उन्हें कुछ भी सफलता नहीं मिली। हालांकि, जब पुलिस ने गाड़ी के ड्राइवर से सख्त पूछताछ की तो उसने कर्इ सारे बोरे कब्रिस्तान में छुपाने की बात काे कबूला। इसके बाद आयकर विभाग ने ड्राइवर की निशानदेही पर उक्त कब्रिस्तान में खुदार्इ करवाया। इसमें आयकर विभाग को करीब 25 करोड़ रुपए नकदी, 12 किलो सोना आैर 626 कैरेट के हीरे बरामद हुए। आयकर विभाग द्वारा यह छापा करीब 9 दिनों तक चला। फिलहाल आयकर विभाग कंप्यूटर से डिलीट किए डेटा के लिए आर्इटी प्रोफेशनल्स की मदद ले रही है। इन तीनों कंपनियों ने हाल ही में चेन्नर्इ में 180 करोड़ रुपए की प्राॅपर्टी भी खरीदी है।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned