Ayushman Bharat Scheme : इस योजना से करा सकेंगे फ्री में इलाज, एक बार में 5 लाख तक की मिलेगी मदद

  • Ayushman Bharat Scheme : कोरोना समेत अन्य गंभीर बीमारियों के इलाज में मददगार है आयुष्मान भारत योजना
  • ई-कार्ड के जरिए लाभार्थी इस योजना का लाभ ले सकते हैं

By: Soma Roy

Published: 15 Jul 2020, 07:26 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप से पूरा देश जूझ रहा है। मरीजों की बढ़ती तादाद के चलते सरकारी अस्पतालों के बेड पहले से ही फुल हो चुके हैं। वहीं प्राइवेट अस्पताल में इलाज कराने के लिए तगड़ी जेब ढीली करनी पड़ रही है। ऐसे में हर किसी के लिए इलाज कराना मुमकिन नहीं है। ऐसे में सरकार एक विशेष योजना लेकर आई है। जिसका नाम आयुष्मान भारत योजना ((Ayushman Bharat Scheme) है। इस स्कीम के जरिए फ्री में कोरोना का इलाज करा सकेंगे। इतना ही नहीं इस स्कीम के तहत लाभार्थी साल में एक बार इलाज के लिए 5 लाख रुपए तक का क्लेम कर सकते हैं।

इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को अपना नाम रजिस्टर्ड कराना होगा। इसके बाद उन्हें ई-कार्ड दिया जाएगा। इस कार्ड के जरिए कैशलेस सर्विस का आसानी से लाभ उठाया जा सकता है। हालांकि इस इस योजना का लाभ आपको तभी मिलेगा जब आपका नाम इस योजना में शामिल होगा। तो इसके लिए क्या है प्रक्रिया और किन बातों का रखना होगा ख्याल आइए जानते हैं।

1.आयुष्मान भारत योजना में अपना नाम चेक करने के लिए आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://www.pmjay.gov.in/ पर लिस्ट चेक कर सकते हैं। इसमें आपको Am I Eligible का लिंक दिखाई देगा। इस पर क्लिक करते ही एक नया पेज खुलेगा। जिसमें मांगी गई जानकारी को भरकर आपको फॉर्म के आखिरी प्रोसेस पर क्लिक करना होगा। ऐसा करते ही आपके मोबाइल में एक OTP आएगा जिसे भरकर सब्मिट करना होगा।

2.इसके बाद आपको अपना राज्य चुनना होगा। यहां आपको कई कैटेगरी भी नजर आएंगी। आप जिस कैटेगरी में अपना नाम चेक करना चाहते हैं, उस कैटेगरी पर क्लिक करें। इसमें आपका नाम, HHD नंबर, राशन कार्ड और मोबाइल नंबर के ऑप्शन होंगे। जिसमें आप क्लिक करके पता कर सकते हैं कि आपका नाम आयुष्मान भारत योजना में नाम शामिल है या नहीं।

3.ऑफलाइन नाम चेक करने के लिए आप अपने फोन नंबर से भी इसे पता कर सकते हैं। इसके लिए आपको 14555 और 1800-111-565 पर कॉल करके पता करना होगा।

क्या है आयुष्मान भारत योजना (ABY)
आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से की गई है। इस योजना के माध्यम से गरीब, उपेक्षित परिवार और शहरी गरीब लोगों के परिवारों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाएगा। इस स्कीम में हर परिवार को सालाना पांच लाख रुपए तक का मेडिकल इंश्योरेंस मिलेगा। इसमें महिला, बच्चे और सीनियर सिटीजन को खास जगह दी गई है। इसलिए इसमें उम्र की कोई सीमा नहीं है।

कौन लोग ले सकते हैं योजना का लाभ

ग्रामीणों के लिए नियम
योेजना के तहत सरकार ने ग्रामीणों और शहरी लोगों के लिए अलग—अलग योग्यताएं तय की हैं। गांव में रहने वाले लोगों में ऐसे लोग इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं जिनका कच्चा मकान हो, परिवार में कोई व्यस्क न हो, परिवार की मुखिया महिला हो, परिवार में कोई दिव्यांग हो, अनुसूचित जाति/जनजाति से हों और भूमिहीन व्यक्ति/दिहाड़ी मजदूर इसके अलावा ग्रामीण इलाके के बेघर व्यक्ति, निराश्रित, दान या भीख मांगने वाले, आदिवासी और क़ानूनी रूप से मुक्त बंधुआ आदि हो। ऐसे लोग इस योजना का लाभ ले सकते हैंं

शहरी लोगों के लिए नियम
कूड़ा बीनने वाले, घरेलू कामकाज करने वाले, रेहड़ी-पटरी दुकानदार, मोची, फेरी वाले, सड़क पर कामकाज करने वाले अन्य व्यक्ति. कंस्ट्रक्शन साईट पर काम करने वाले मजदूर, प्लंबर, राजमिस्त्री, मजदूर, पेंटर, वेल्डर, सिक्योरिटी गार्ड, कुली और भार ढोने वाले अन्य कामकाजी व्यक्ति स्वीपर, सफाई कर्मी, घरेलू काम करने वाले, हेंडीक्राफ्ट का काम करने वाले, टेलर, ड्राईवर, रिक्शा चालक, दुकान पर काम करने वाले आदि लोग आयुष्मान भारत योजना (ABY) के तहत आवेदन कर सकते हैं।

Coronavirus treatment
Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned