Loan Moratorium Extension : दिसंबर तक आम लोगों को मिल सकती है EMI से राहत

  • 31 अगस्त 2020 को खत्म हो रही है Loan Moratorium का Second Phase
  • Loan Moratorium 3 पर किया जा रहा है विचार, Reserve Bank कर रहा है मंथन

By: Saurabh Sharma

Updated: 23 Jul 2020, 03:38 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( Coronavirus ) की वजह से देश में आर्थिक संकट ( Financial Crisis ) से अभी तक अधिकतर सेक्टर उबर नहीं पाए हैं। वहीं आम लोगों की नौकरी जाने का भी सिलसिला लगातार जारी है। ऐसे में आरबीआई मोराटोरियम ( RBI Moratorium ) बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। आरबीआई इस मामले में गहरा मंथन कर रही है। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो आरबीआई दिसंबर तक लोन मोराटोरियम एक्सटेंशन ( Loan Moratorium Extension ) कर सकती है। आपको बता दें कि आरबीआई ने पिछली बार लोन मोराटोरियम ( Loan Moratorium ) को 3 महीने और बढ़ाकर 31 अगस्त कर दिया था। जानकारों के अनुसार इस बारे में आरबीआई किसी तरह की जल्दी करने के मूड में नहीं है। सभी पक्षों से बातचीत करने में जुटा है।

यह भी पढ़ेंः- Gold Price ने बनाया नया Record, जानिए आज कितनी महंगी हुई चांदी

31 दिसंबर तक बढ़ सकता है लोन मोराटोरियम
मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि लोन मोरोटोरियम को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ है, लेकिन आरबीआई की ओर से सभी पक्षों से बातचीत कर रहा है। सूत्रों का यहां तक कहना है कि आरबीआई वैसे लोन मोराटोरियम को एक्टेंड करने का मन बना चुका हैै। जिसे 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ाने की संभावना दिखाई दे रही है। जानकारों की मानें तो कई सेक्टर्स की ओर से आरबीआई पर राहत देने का दबाव बना जा रहा है। जिसकी वजह से आरबीआई को उक बार फिर से लोन मोराटोरियम देने के बारे में गंभीरता से विचार कर रहा है।

यह भी पढ़ेंः- PSU Bank Employees Salary में होगा इजाफा, जानिए कितनी मोटी मिलेगी रकम

इन सेक्टर्स में अभी भी हालत है खराब
देश में सबसे ज्यादा खराब स्थिति ऑटोमोबाइल्स और एविएशन सेक्टर की देखने को मिल रही है। वहीं हॉस्पिटैलनिटी और सर्विस सेक्टर भी काफी खराब स्थिति में चल रहे हैं।सभी सेक्टर्स का काम ठप पड़ा है, जिसकी वजह से या तो कर्मचारियों को नौकरी से निकाला जा रहा है या फिर विदाउट पेड लीव पर भेजा रहा है। यहां तक कि सैलरी में भी 40 से लेकर 60 फीसदी तक की कटौती की जा रही है। हाल ही में एविएशन मिनिस्ट्री के कहने पर सरकारी एयरलाइन एअर इंडिया के कर्मचारियों की सैलरी में 50 फीसदी से ज्यादा की कटौती कर दी है। ऐसे में आरबीआई पर लगातार दबाव देखने को मिल रहा है।

यह भी पढ़ेंः- China को Rakhi Season में भारत देगा 4 हजार करोड़ रुपए का झटका, जानिए कैसे

पहले भी कह चुके हैं आरबीआई गवर्नर
भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास देश की आम जनता को कई बार भरोसा दिला चुके हैं कि कोरोना से इकोनॉमी को बचाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा। जानकारों की मानें तो मोराटोरियम ना बढ़ाने की स्थिति में लोन डिफॉल्ट का संकट बढऩे संभावना है। कारोबार से लेकर नौकरीपेशा तक सबकी कमाई पर असर देखने को मिल रहा है। आरबीआई ने मार्च में तीन महीने के लिए मोराटोरियम सुविधा दी थी। जिसके बाद इसे तीन महीनों के लिए और बढ़ाते हुए 31 अगस्त तक के लिए लागू कर दिया था।

reserve bank of india
Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned