पीएनबी के अलावा पंजाब एंड सिंध बैंक को भी मेहुल चौकसी ने लगाया चूना, 44.1 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की

पीएनबी के अलावा पंजाब एंड सिंध बैंक को भी मेहुल चौकसी ने लगाया चूना, 44.1 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की

Shivani Sharma | Updated: 12 Oct 2019, 04:46:47 PM (IST) फाइनेंस

  • पंजाब एंड सिंध बैंक से 44.1 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की
  • पीएसबी ने चोकसी को विलफुल डिफॉल्टर घोषित किया

नई दिल्ली। पंजाब नैशनल बैंक के साथ 13,000 करोड़ रुपये का फर्जीवाड़ा करने वाले भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी ने पंजाब ऐंड सिंध बैंक को लगभग 44.1 करोड़ रुपये का चूना लगाया है। बैंक ने शनिवार को यह जानकारी दी। यह पहली बार है, जब बैंक ने चोकसी द्वारा डिफॉल्ट के बारे में खुलकर जानकारी दी है।


चोकसी ने लिया लोन

बैंक ने कहा है कि चोकसी की कंपनी गीतांजलि जेम्स लिमिटेड ने उससे लोन लिया था। चोकसी कंपनी में निदेशक के साथ-साथ गारंटर है। जब चोकसी ने लोन अमाउंट नहीं चुकाया तो 31 मार्च, 2018 को पीएसी ने उसे एनपीए में डाल दिया।


पीएसबी ने डिफॉल्टर घोषित किया

बैंक ने चोकसी को लोन अमाउंट तथा इंट्रेस्ट और अन्य शुल्कों का 23 अक्टूबर, 2018 को भुगतान करने के लिए कहा था। लेकिन जब लोन का भुगतान नहीं किया गया तो 17 सितंबर, 2019 को पीएसबी ने चोकसी को विलफुल डिफॉल्टर घोषित कर दिया। सीबीआई ने गुरुवार को मुंबई की एक अदालत से आग्रह किया कि पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी मेहुल चोकसी को भगोड़ा घोषित किया जाए। एजेंसी ने कहा कि वह गैर जमानती वारंट का जवाब देने में विफल रहा है।


सीबीआई ने की जांच

सीबीआई मामलों के विशेष न्यायाधीश वी. सी. बारदे के समक्ष आवेदन देकर एजेंसी ने कहा कि मामले में पहली प्राथमिकी दर्ज होने से पहले ही ‘खुद को छिपाने के लिए’ वह देश छोड़कर भाग गया। इसने कहा, ‘चोकसी ने एंटीगुआ की नागरिकता ले रखी है, ताकि अदालत की तरफ से जारी वारंट से बच सके।’

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned