बुरी खबर! बंद हो सकता है आपका मोबाइल वॉलेट, जानिए क्या है पूरा मामला

बुरी खबर! बंद हो सकता है आपका मोबाइल वॉलेट, जानिए क्या है पूरा मामला

Manish Ranjan | Publish: Jan, 08 2019 01:36:14 PM (IST) फाइनेंस

क्या आप लेनदेन के लिए मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल करते हैं अगर हां तो आपके लिए एक बुरी खबर है क्योंकि अब आप मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे।

नई दिल्ली। क्या आप लेनदेन के लिए मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल करते हैं अगर हां तो आपके लिए एक बुरी खबर है क्योंकि अब आप मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। देश में जितने भी मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल किया जा रहा वे सभी मार्च तक बंद हो जाएंगे।


अभी तक पूरा नहीं हुआ वेरिफिकेशन

पेमेंट्स इंडस्ट्री के एग्जिक्यूटिव्स ने जानकारी देते हुए बताया कि उन्हें सभी कस्टमर्स का वेरिफिकेशन फरवरी 2019 पूरा करना था जो अभी तक नहीं हुआ है, जिसकी वजह से उन्हे कई अकाउंट बंद करने होगे। इसका सीधा असर कस्टमर्स पर पड़ेंगा। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के नियमों के अनुसार देश भर में कार्यरत 95 फीसदी मोबाइल वॉलेट बंद हो जाएंगे।


आरबीआई ने दिए थे निर्देश

आरबीआई ने जानकारी देते हुए बताया है कि कोई भी ग्राहक 1 मार्च से बिना केवाईसी के लिए वॉलेट में पैसा नहीं डाल सकेंगे। इसलिए अगर आपकी केवाईसी नहीं बनी है तो आप उसे जल्द ही बनवा लें। आरबीआई के सख्त दिशानिर्देशों के चलते ऐसा होने जा रहा है। आरबीआई ने काफी पहले ही गाइडलाइन जारी कर सभी कंपनियों को वेरिफिकेशन कराने के निर्देश दे दिए थे।


डिजिटल पेमेंट में आई है तेजी

आज के समय में सभी लोग डिजिटल हो गए हैं और पिछले चार सालों में डिजिटल पेमेंट काफी तेजी आई है। साथ ही एक्सपर्ट्स ने जानकारी देते हुए बताया कि जिन मोबाइल वॉलिट्स ने मार्केट में अच्छी जगह बना ली है सिर्फ वहीं कंपनी मार्च के बाद यहां टिक पाएंगी।


इऩ मोबाइल वॉलेट कंपनियां को कर रहे पसंद

आज के समय में देश में पेटीएम, मोबीक्विक, एसबीआई योनो, एचडीएफसी पैजेप, एम-पैसा, एयरटेल मनी, चिल्लर, अमेजन पे, फोन-पे जैसी प्रमुख मोबाइल वॉलेट कंपनियां हैं, जिनका प्रयोग देश की जनता अपने लेनदेन को आसान बनाने में कर रही हैं।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned