ईपीएफओ ने शुरू की नई सेवा, यूएएन के साथ 10 पीएफ खातों को कर सकेंगे मर्ज

alok kumar

Publish: Dec, 07 2017 04:18:14 (IST)

Finance
ईपीएफओ ने शुरू की नई सेवा, यूएएन के साथ 10 पीएफ खातों को कर सकेंगे मर्ज

भविष्‍य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने अपने अंशधारकों के लिए नई सेवा शुरू की है।

नई दिल्‍ली. भविष्‍य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने अपने अंशधारकों के लिए नई सेवा शुरू की है। इस सेवा की मदद से अंशधारक अपने सभी प्रोविडेंट फंड (पीएफ) अकाउंट को एक साथ यूएएन (यूनिवर्सल अकाउंट नंबर) के साथ विलय कर सकते हैं। नई सेवा के तहत पीएफ अंशधारक अपने 10 पुराने अकाउंट को एक बार में अपने यूएएन नंबर के साथ मर्ज कर सकता है।


4.5 करोड़ अंशधारकों को होगा फायदा
ईपीएफओ की इस नई सर्विस से करीब 4.5 करोड़ अंशधारकों को फायदा मिलेगा। अभी तक अंशधारकों को यूएएन पोर्टल पर जा कर ऑलाइन माध्‍यम का इस्‍तेमाल करते हुए पीएफ को जोड़ने के लिए अलग-अलग क्‍लेम फॉर्म भरना होता है।


केवाईसी पूरा होना जरूरी
यूएएना के साथ सभी पीएफ खातों को जोड़ने के लिए केवाईसी (अपने ग्राहक को जानें) पूरा होना जरूरी होगा। साथ ही बैंक अकाउंट और आधार को पैन से लिंक होना भी जरूरी है। अगर, किसी का यूएएन एक्टिवेट नहीं हुआ है तो ऑनलाइन के जरिए ईपीएफओ पोर्टल पर ट्रांसफर क्‍लेम सुविधा का लाभ ले सकते हैं।


120 कार्यालयों में शुरू हुई सुविधा
ईपीएफओ के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि इस पहल से एक कर्मचारी, एक ईपीएफ अकाउंट के उद्देश्‍य को और आसान बना दिया है। अधिकारी के मुताबिक ईपीएफओ ने इस हफ्ते की शुरुआत में 120 से अधिक कार्यालयों को इस सेवा शुरू करने का निर्देश जारी कर दिया है।


कैसे उठाएं इस सेवा का लाभ
अंशधारकों को इस सेवा का लाभ लेने के लिए अपना यूएएन नंबर, मेंबर आईडी और मोबाइल नंबर उपलब्‍ध करवाना होगा। अंशधारक की ओर से दी गई जानकारी सत्यापित होने के बाद ईपीएफओ अपने सब्स्क्राइबर को यूएएन के साथ सभी पीएफ खातों को मर्ज करने की अनुमति देगा। ईपीएफओ वेबसाइट के 'कर्मचारी' कॉर्नर पर इस सुविधा का उपयोग किया जा सकता है।


फॉलो करें ये स्‍टेप्‍स
ईपीएफओ की वेबसाइट पर जाएं। वहां पर आपको आवर सर्विस का एक टैब दिखाई देगा। इस टैब पर क्लिक करने पर आपको पांच आप्‍शन दिखाई देंगे। इसके दूसरे ऑप्‍शन, फॉर एम्पलाई पर क्लिक करना होगा। इस टैब पर क्लिक करते ही एक नया पेज खुल जाएगा।


नए पेज पर वन एम्प्लॉई-वन ईपीएफ अकाउंट ऑप्शन पर क्लिक करें। इस पर क्लिक करते ही एक और नया पेज खुलेगा। नए पेज पर अंशधारक को अपना यूएएन नंबर, मेंबर आईडी और मोबाइल नंबर उपलब्ध देना होगा। इसके बाद ओटीपी जनरेट करना होगा। अंशधारक की ओर से दी गई जानकारी को जांचने के बाद पीएफ अकाउंट मर्ज करने की अनुमति मिल जाएगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned