PM Solar Panel Scheme: खेत में सोलर प्लांट लगाकर किसान बन सकते हैं मालामाल, बिजली बेचकर कमाएं मुनाफा

  • PM Solar Panel Scheme : 25 साल तक खेत की जमीन इस्तेमाल करने के लिए कंपनियों को देना होगा किराया
  • सोलर पैनल लगवाने के लिए किसान कुसुम स्कीम के तहत रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं

By: Soma Roy

Published: 03 Nov 2020, 06:09 PM IST

नई दिल्ली। साल 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के मकसद से प्रधानमंत्री सोलर पैनल योजना (PM Solar Panel Scheme ) चलाई जा रही है। इसमें किसान खेतों में सोलर पैनल लगवाकर अपनी आमदनी को चौगुना कर सकते हैं। इसके लिए वे चाहे तो अपने खेतों को सोलर कंपनियों को किराए पर दे दें। या सोलर प्लांट से उत्पन्न होने वाली बिजली को कंपनियों को बेचकर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। सोलर पैनल लगवाने के लिए किसानों (scheme for farmers) को सरकार की ओर से आर्थिक मदद दी जाएगी।

4 लाख प्रति एकड़ के अनुसार रुपए देगी कंपनी
प्रधानमंत्री सोलर पैनल योजना में किसान अपने खेत के एक तिहाई हिस्से को सोलर पैनल के लिए किराए पर दे सकते हैं। इसके बदले निजी कंपनियां उन्हें एक लाख रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से किराया देंगी। ये किराया उन्हें 25 साल तक देने रहना होगा। बाद में अवधि पूरी हो जाने पर खेत का किराया बढ़ जाएगा। अब कंपनी को बिजली लेने के लिए किसान को 4 लाख रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से रुपए देने होंगे।

योजना के फायदे
1.सोलर पैनल योजना के तहत निजी कंपनियां किसानों को किराये के तौर पर एक लाख रुपए प्रति एकड़ देंगे। वहीं 25वें साल से एक एकड़ खेत का किराया 4 लाख रुपए हो जाएगा।

2.सोलर पैनल लगवाने में किसान को कोई खर्च नहीं करना होगा। पीपीपी मॉडल पर निजी कंपनियां इसे अपनी लागत से लगाएंगी।

3.सोलर पैनल जमीन से 3.5 मीटर की ऊंचाई पर लगाए जाएंगे। जिससे किसानों को वहां खेती करने में दिक्कत न हो।

4.एक एकड़ जगह देने पर किसानों को 1000 यूनिट फ्री बिजली मिलेगी। साथ ही जरूरत से ज्यादा बिजली पैदा होने पर वे इसे कंपनी या सरकार को बेच भी सकते हैं।

रजिस्ट्रेशन से पाएं लाभ
सोलर पैनल योजना से सामान्य किसानों के अलावा ऐसे लोग लाभ ले सकते हैं जिनकी जमीन बंजर है। ऐसे में वे अपनी खाली जमीन को सोलर पैनल के लिए किराए पर दे सकते हैं। इससे उनकी आमदनी बढ़ेगी। वे जमीनों पर सोलर पैनल लगाकर के सौर ऊर्जा से बिजली बना सकते हैं। इसे वे विभिन्न सरकारी व गैर सरकारी बिजली कंपनियों को बेचकर प्रतिमाह पैसा कमा सकते हैं। एक मेगावाट का सोलर प्लांट लगाने में छह एकड़ जमीन की जरूरत पड़ती है। इससे 13 लाख यूनिट बिजली बनाई जा सकती है। किसान इसे बेचकर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को प्रधानमंत्री सोलर पैनल योजना (कुसुम स्कीम) के तहत रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned