scriptPSBs get navratna, maharatna titles, may be announced on August 15 | रत्नों की उपाधियों से नवाजे जाएंगे Government Banks, 15 अगस्त को हो सकती है घोषणा | Patrika News

रत्नों की उपाधियों से नवाजे जाएंगे Government Banks, 15 अगस्त को हो सकती है घोषणा

  • सरकारी कंपनियों की तरह Government Banks को महारत्न, नवरत्न और मिनिरत्न से नवाजा जा सकता है
  • उपाधि मिलने के बाद Public Sector Bank भी कर सकते हैं कंपनियों की तरह आजादी के साथ अपना काम

नई दिल्ली

Updated: August 12, 2020 03:56:15 pm

नई दिल्ली। सरकारी कंपनियों की तरह अब पब्लिक सेक्टर बैंक ( Public Sector Bank ) भी रत्न से सुसज्जित होंगे। सरकारी बैंकों ( Government Bank ) को महारत्न ( Maharatna ), नवरत्न ( Navratna ) और मिनिरत्न ( Miniratna ) से नवाजा जाएगा। 15 अगस्त को इसकी घोषणा हो सकती है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बैंकों के साथ दूसरे वित्तीस संस्थानों को भी सरकार पूरी आजादी देने के मूड में दिखाई दे रही है। उपाधियों से नवाजे जाने के बाद सरकारी कंपनियों की तरह से सरकारी बैंकों को भी काम करने की पूरी आजादी हो जाएगी। इंवेस्टमेंट से लेकर बड़े प्रपोजल तक में खुद फैसला ले पाएंगे। उन्हें सरकार और आरबीआई की ओर ताकने की जरुरत नहीं होगी। आपको बता दें कि कंपनियों को उनके टर्नओवर और प्रोफिट के आधार पर दर्जा दिया जाता है।

Public Sector Bank
PSBs get navratna, maharatna titles, may be announced on August 15

यह भी पढ़ेंः- CAIT ने IT Minister को लिखा खत, Huawei और ZTE पर लगाया जाए Ban

बैंक कर्मचारियों को कितना होगा फायदा
जानकारी के अनुसार देश के बैंक कर्मचारियों को इसका फायदा दिया जाएगा। किसी कर्मचारी के आधार पर बैंक के शेयर देने का भी प्रस्ताव किया गया है। जानकारी के अनुसारी सरकारी कंपनियों को तीन तरह की उपधियों से नवाजा जाता है। जिसमें महारत्न, नवरत्न और मिनिरत्न शामिल है। मिनिरत्न में दो सब कैटेगिरी रखी हैं। इन सभी कैटेगिरी में अलग-अलग क्राइटेरिया के हिसाब से कंपनियों को रत्नों की उपाधि दी जाती है।

यह भी पढ़ेंः- Gold Silver Price Crash: चार दिनों में 17 हजार सस्ती हुर्इ चांदी, सोना 6200 रुपए नीचे

क्या होती महारत्न कैटेगिरी
महारत्न कैटेगिरी में उन कंपनियों को रखा जाता है, जिनका तीन सालों तक 5000 करोड़ से अधिक का शुद्ध लाभ होता है और इस दौरान नेट वर्थ 15000 करोड़ रुपए होता है और समान अवधि में औसत टर्नओवर 25000 करोड़ रुपए होता है। इसके बाद कंपनियां शेयर बाजार में इक्विटी के जरिए निवेश कर सकती हैं। दूसरी कंपनियों को फाइनेंशियल पार्टनर बनाने के साथ विदेशी कंपनियों के साथ मर्जर या एक्विजिशन कर सकती हैं। इसके लिए 5 हजार करोड़ रुपए की सीमा है।

यह भी पढ़ेंः- बाढ़ प्रभावित राज्यों में Free Ration की होगी Doorstep Delivery

नवरत्न कंपनियों की खासियत
नवरत्न का दर्जा हासिल करने के लिए 100 में से 60 का स्कोर होना काफी जरूरी है। इनको 6 पैरामीटर्स में मापा जाता है। जिनमें नेट प्रॉफिट, नेटवर्थ, मैनपॉवर कॉस्ट, प्रोडक्शन कॉस्ट, सेवाओं की लागत, पीबीडीआईटी और बिजनेस में लगाई गई कैपिटल शामिल होती है।

यह भी पढ़ेंः- IT Department ने किया Chinese Money Laundering का पर्दाफाश, 1000 करोड़ रुपए के मामले में कई चीनियों पर कार्रवाई

मिनीरत्न कैटेगरी की कंपनियां
इसमें दो सब कैटेगिरी भी शामिल होती है। पहली सब कैटेगिरी के तहत पब्लिक सेक्टर कंपनी को लगातार तीन सालों तक प्रोफिट दिखाना होगा या फिर पिछले तीन सालों में से किसी एक साल 30 करोड़ रुपए या उससे अधिक का प्रोफिट दिखाना होता है। वहीं दूसरी सब कैटेगिरी पब्लिक सेक्टर कंपनी को पिछले तीन सालों से लगातार प्रोफिट दिखाने के साथ पॉजिटिव नेटवर्थ भी होना काफी जरूरी है।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

पाकिस्तानी आकाओं के इशारे पर भारत में आतंक फैलाने की थी साजिश, ग्रेनेड के साथ 3 आतंकी गिरफ्तारIND vs SA, 2nd T20: भारत ने साउथ अफ्रीका को 16 रनों से हराया, सीरीज पर 2-0 से कब्जाअरविंद केजरीवाल का बड़ा दावा- 'गुजरात में बनेगी आप की सरकार', IB रिपोर्ट का दिया हवालासच बोलने की सजा भुगतनी पड़ी... बिहार के कृषि मंत्री के इस्तीफे पर BJP ने नीतीश पर किया हमलाअमित शाह के जम्मू दौरे से पहले पुलवामा में आतंकी हमला, पुलिस का एक जवान शहीद, CRPF जवान जख्मीIND vs SA: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान, सभी सीनियर खिलाड़ियों को मिला आरामIAF की ताकत में होगा इजाफा, कल सेना में शामिल होगा स्वदेशी हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर, जानें इसकी खासियतIND vs SA 2nd T20: 2 गेंदबाज जो साउथ अफ्रीका को हराने में टीम इंडिया की मदद करेंगे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.