RBI ने किया बड़ा बदलाव, RTGS से पैसे भेजने की समय सीमा को बढाया

RBI ने किया बड़ा बदलाव, RTGS से पैसे भेजने की समय सीमा को बढाया

Shivani Sharma | Updated: 29 May 2019, 10:10:28 AM (IST) फाइनेंस

  • भारतीय रिजर्व बैंक ( RBI ) ने रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट ( RTGS ) में बदलाव करने जा रहा है
  • 1 जून से ये बदलाव लागू कर दिया जाएगा
  • अब आप शाम के 6 बजे तक पैसे का लेनदेन कर सकते हैं

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक ( rbi ) ने आम आदमी को राहत देते हुए रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट ( RTGS ) के जरिए पैसे भेजने का समय डेढ घंटे बढ़ाकर शाम 6 बजे तक कर दिया है। यह व्यवस्था 1 जून से प्रभावी होगी। आरबीआई ने मंगलवार को यह जानकारी दी। फिलहाल आरटीजीएस के जरिए शाम साढ़े चार बजे तक ही मनी ट्रांसफर की सुविधा है। इसके बाद आप पैसे ट्रांसफर नहीं कर सकते हैं।


2 लाख से ज्यादा की राशि भेजने के लिए किया जाता है प्रयोग

आरटीजीएस सिस्टम के माध्यम से आप मनी ट्रांसफर का काम तुरंत कर सकते हैं। आरटीजीएस का उपयोग मुख्यत बड़ी राशि के हस्तांतरण के लिए होता है। इसके तहत न्यूनतम 2 लाख रुपए भेजे जा सकते हैं और अधिकतम राशि भेजने की कोई सीमा नहीं है। वर्तमान में ज्यादा पैसे भेजने के लिए लोग इसी सिस्टम का प्रयोग करते हैं। अगर आप आरटीजीसी के माध्यम से पैसे भेजते हैं तो आपके पैसे सुरक्षित भी रहते हैं। इसमें किसी भी तरह की धोखाधड़ी की संभावना नहीं होती है।


ये भी पढ़ें: Q4 Results: मार्च तिमाही में पंजाब नेशनल बैंक को 4750 करोड़ रुपए का घाटा


1 जून से बढ़ जाएगा समय

आरबीआई ने अधिसूचना में कहा, 'आरबीआई ने आरटीजीएस में ग्राहक लेनदेन के लिए समय को शाम साढे चार बजे से बढ़ाकर 6 बजे करने का फैसला किया है।' आरटीजीएस के तहत यह सुविधा 1 जून से मिलेगी। 1 जून के बाद आप 6 बजे तक इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।


neft का भी किया जाता है प्रयोग

आरटीजीएस के अलावा पैसे एक खाते से दूसरे खाते में भेजने का एक अन्य लोकप्रिय माध्यम नैशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) है। इसमें ट्रांसफर के लिए न्यूनतम और अधिकतम पैसे की सीमा नहीं है। कुछ दिन पहले NEFT की समय-सीमा को भी बढ़ा दिया गया है।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार,फाइनेंस,इंडस्‍ट्री,अर्थव्‍यवस्‍था,कॉर्पोरेट,म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned