बैंकों की लापरवाही के चलते, RBI ने यूनियन बैंक समेत तीन बैंकों पर लगाया एक करोड़ तक का जुर्माना

बैंकों की लापरवाही के चलते, RBI ने यूनियन बैंक समेत तीन बैंकों पर लगाया एक करोड़ तक का जुर्माना

manish ranjan | Publish: Sep, 08 2018 02:07:39 PM (IST) | Updated: Sep, 08 2018 02:12:14 PM (IST) फाइनेंस

बैंक किसी भी देश के विकास में एक अहम रोल निभाता है। ऐसे में जब बैंक कोई भी गलती करता है तो उसका सीधा असर देश के विकास पर पड़ता हैं।

नई दिल्ली। बैंक किसी भी देश के विकास में एक अहम रोल निभाता है। ऐसे में जब बैंक कोई भी गलती करता है तो उसका सीधा असर देश के विकास पर पड़ता हैं। क्योंकि बैंकों की लापरवाही के चलते धोखाधड़ी के मामले बढ़ते ही जा रहे है। इसी को देखते हुए rbi ने कई सख्त कदम उठाने का फैसला किया है। हाल ही में RBIने कई बड़ी बैंको पर धोखाधड़ी को पकड़ने में देरी और समय पर इसके बारे में जानकारी नहीं देने के लिए 1 करोड़ का जुर्माना लगाया है।

रिजर्व बैंक ने लगाया करोड़ का जुर्माना
आरबीआई ने सार्वजनिक क्षेत्र के तीन बैंकों यूनियन बैंक आफ इंडिया, बैंक आफ इंडिया और बैंक आफ महाराष्ट्र पर एक-एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को तीन अलग-अलग रिपोर्ट जारी कर कहा कि उसने यूनियन बैंक आफ इंडिया, बैंक आफ इंडिया और बैंक आफ महाराष्ट्र पर एक-एक करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है। यह जुर्माना धोखाधड़ी को पकड़ने में की गई देरी और समय पर इसके बारे में जानकारी नहीं देने के लिए लगाया गया है।

रिजर्व बैंक ने मांगा था बैंकों से जवाब
रिजर्व बैंक ने यूनियन बैंक को 15 जनवरी, 2018 को नोटिस जारी कर पूछा था कि क्यो नहीं कानून के तहत उस पर जुर्माना लगाया जाए। इसके बाद बैंक ने एक फरवरी को रिजर्व बैंक को अपना जवाब भेजा था। रिजर्व बैंक के कार्यकारी निदेशकों की समिति के समक्ष बैंकों ने अपना पक्ष रखा था। लेकिन बैंको के जवाब से रिजर्व बैंक संतुष्ट नहीं हुआ। रिजर्व बैंक ने इन बैंकों पर बैंकिंग नियमन कानून के तहत यह जुर्माना लगा दिया। इस मामले में यूनियन बैंक आफ इंडिया का कहना है की उसे छह सितंबर को रिजर्व बैंक से जुर्माना लगाए जाने के बारे में सूचना मिली।

यह भी पढ़ें -

इन कर्मचारियों को मिलने जा रहा है डबल तोहफा, बढ़ी सैैलरी के साथ दो साल का एरियर भी

Ad Block is Banned