तो इस वजह से SBI ने बंद कर दिए 41.16 लाख खाते

तो इस वजह से SBI ने बंद कर दिए 41.16 लाख खाते

manish ranjan | Publish: Mar, 14 2018 03:59:37 PM (IST) | Updated: Mar, 14 2018 04:14:52 PM (IST) फाइनेंस

इन बचत खातों में खाताधारकों ने आैसतन मासिक बैलेंस नहीं मेंटेन किया था जिसके चलते बैंक ने इन खातों को बंद कर दिया।

नर्इ दिल्ली। देश के सार्वजनिक क्षेत्र की सबसे बड़ी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआइ) ने करीब 41.16 लाख बचत खातों को बंद कर दिया है। एसबीआइ ने इन सभी खातों को चालू वित्त वर्ष के अप्रैल से जनवरी के बीच बंद किया है। दरअसल इन बचत खातों में खाताधारकों ने आैसतन मासिक बैलेंस नहीं मेंटेन किया था जिसके चलते बैंक ने इन खातों को बंद कर दिया। यह जानकारी सूचना का अधिकार (आरटीआइ) के तहत पूछे गए सवाल के बाद आया। मध्य प्रदेश के एक शख्स ने अपनी तरफ से दायर किए गए आरटीआइ में बैंक से इन खातों के बंद हाेने का कारण पूछा था। बैंक ने अपने जवाब में कहा कि इन खातों में न्यूनतम राशि मेंटेन न करने पर लागू जुर्माने के प्रावधानों के तहत बैंक ने 1 अप्रैल 2017 आैर 31 जनवरी 2018 के बीच 41.16 लाख बचत खाते बंद कर दिए हैं


एसबीआइ में है 41 करोड़ बचत खाते

आपको बता दें सार्वजनिक क्षेत्र के इस बैंक में लगभग 41 करोड़ बचत खाते हैं। इन 41 करोड़ बचत खातों में करीब 16 करोड़ खाते प्रधानमंत्री जनधन योजना या बेसिक सेविंग बैंक अकाउंट आैर पेंशनर्स के है। अभी पिछले साल ही एसबीआइ ने खातों में आैसतन प्रतिमाह न्यूनतम राशि न रखने पर पेनाल्टी लगाना शुरु किया था। एसबीआइ ने अपने इस नियम के तहत मेट्रो और शहरी क्षेत्र के सभी बचत खातों में न्यूनतम 3,000 रुपए रखना अनिवार्य कर दिया था। जबकि अर्ध शहरी क्षेत्रों के बचत खातों में न्यूनतम 2,000 रुपए रखना अनिवार्य कर दिया था। ग्रामीण क्षेत्रों के बैंक खातों के लिए यह सीमा 1000 रुपए निर्धारित किया गया था।


एक अप्रैल से पेनाल्टी में होगी 75 फीसदी कटौती

पिछले दिनों ही एसबीआइ ने इन बचत खातों में न्यूनतम राशि न रखने वालो पर लगने वाले पेनाल्टी चार्ज में 75 फीसदी तक कटौती कर दिया है। एसबीआइ के इस फैसले से लगभग 25 करोड़ उपभोक्ताआें को लाभ मिलेगा। इस कटौती के पहले मेट्रो आैर शहरी क्षेत्रों के खातों पर न्यूनतम बैलेंस नही रखने पर प्रति माह 50 रुपए पेनाल्टी देना पड़ता था। लेकिन कटौती के बाद ये पेनाल्टी घटकर 15 रुपए हो गया है। वहीं अर्द्घशहरी आैर क्षेत्रों के लिए 12 रुपए आैर ग्रामीण क्षेत्राें के लिए ये पेनाल्टी 10 रुपए कर दिया गया है। बैंक ने ये कहा है कि ये नियम आगामी एक अप्रैल से लागू होगा।

 

Ad Block is Banned