Senior Citizen Savings Scheme : वरिष्ठ नागरिकों के लिए बचत स्कीम, मिलेगा सबसे ज्यादा ब्याज, जानिए कैसे करें आवेदन

Highlights
- वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (Senior Citizens Savings Scheme) 60 साल से अधिक उम्र के भारतीय निवासियों के लिए बनाई गई है
- खाता खोलने की तारीख से 5 साल के बाद जमा राशि मैच्योर (post office savings scheme) होती हैं
- लेकिन यह अवधि एक ही बार अतिरिक्त 3 साल के लिए बढ़ाई जा सकती है

By: Ruchi Sharma

Published: 11 Jul 2020, 04:23 PM IST

नई दिल्ली. Senior Citizens Savings Scheme 2020: केंद्र सरकार (Central Government) ने सभी तबके के लोगों की जिम्मेदारी उठाते हुए कई योजनाएं (Central Government Yojana) चलाई है। उन्हीं में से एक योजना वरिष्ठ नागरिकों (Senior Citizens Savings Scheme) के लिए हैं। यहां है वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (Senior Citizens Savings Scheme)। जो 60 साल से अधिक उम्र के भारतीय निवासियों के लिए बनाई गई है।

खाता खोलने की तारीख से 5 साल के बाद जमा राशि मैच्योर (post office savings scheme) होती हैं, लेकिन यह अवधि एक ही बार अतिरिक्त 3 साल के लिए बढ़ाई जा सकती है। वहीं इस साल वित्त मंत्री ने फरवरी और अप्रैल 2020 के बीच रिटायर हुए लोगों के लिए वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (Post office SCSS interest rate) में निवेश की सीमा में छूट दी है।

वैसे तो इस योजना में 60 साल (SCSS Eligibility) या उससे अधिक कोई भी व्यक्ति निवेश (Post office, SCSS Eligibility) कर सकता है। मगर दूसरे नियम के अनुसार अगर कोई 55 साल से 60 साल का व्यक्ति वृद्धावस्था (Senior Citizens Savings Scheme 2020) के कारण कार्य की योग्यता के तहत रिटायर हुआ है तो वह भी इसे इसमें निवेश (Post office SCSS Benefits) कर सकता है। बस शर्त यह है कि ऐसे व्यक्ति को इस योजना में 1 महीने के भीतर आवेदन करना होता है।


आइए जानते हैं कम से कम व ज्यादा से ज्यादा कितनी राशि जमा कर सकते है

इय योजना (Senior Citizens Savings Scheme 2020) के तहत जमा कर्ताओं को न्यूनतम 1000 रु. की एकमुश्त राशि जमा करने की अनुमति है। 1000 रु. से ज्यादा की राशि 1000 रु. के गुणकों जमा करनी होगी। SCSS (SCSS Eligibility) में राशि जमा कराने की अधिकतम सीमा 15 लाख है।

जानिए, कितने सालों बाद होती है मैच्योरिटी

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (Senior Citizens Savings Scheme 2020) में जमा की गई राशि खाता खोलने की तारीख से 5 साल के बाद मैच्योर होती है। हालांकि, खाता धारक (SCSS Eligibility) के पास मैच्योर होने के बाद खाते की समय सीमा 3 साल तक बढ़ाने का विकल्प होता है। यह विकल्प वर्तमान में सिर्फ एक बार उपलब्ध है और इसका अनुरोध SCSS खाते की मैच्योरिटी के 1 वर्ष के भीतर किया जाना चाहिए।

इन शर्तों पर देना होगा ध्यान

- यह योजना 60 वर्ष या इससे अधिक आयु के किसी भी निवासी को उपलब्ध है
- साथ ही, जिन व्यक्तियों की 55 वर्ष की आयु हो चुकी है, लेकिन वे 60 वर्ष से कम उम्र के हैं, वे भी वरिष्ठ नागरिक बचत योजना के लिए आवेदन करने के योग्य हैं, बशर्ते वे लागू रिटायर्मेंट या वीआरएस नियमों के तहत रिटायररिटायर हुए हों। ऐसे मामलों में, खाता रिटायर्मेंट के लाभों की प्राप्ति के 1 महीने के भीतर खुल जाना चाहिए
- यह योजना उन रिटायर रक्षा कर्मियों के लिए भी उपलब्ध है जो उपरोक्त आयु के ना भी हो, लेकिन यह अन्य नियमों और शर्तों को पूरा करते हों
- गैर-भारतीय नागरिक (NRI) और भारतीय मूल के व्यक्ति (PIO) के लिए वरिष्ठ नागरिक बचत योजना खाता खोलने की अनुमति नहीं हैं
- इसके अलावा, हिंदू अविभाजित परिवार (HUF) के सदस्य भी इन नियमों के तहत खाता नहीं खोल सकते हैं

ऑनलाइन करें आवेदन

- भारतीय डाक के दफ़्तरों के साथ-साथ ऑनलाइन भी उपलब्ध है।
- यदि आप भारतीय डाक में अपना SCSS खाता खोलना चाहते हैं, तो आप आधिकारिक भारतीय डाक की वेबसाइट https://www.indiapost.gov.in/VAS/DOP_PDFFiles/form/ApplicationFormForOpeningSCSS.pdf से SCSS आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं।

जानिए, कैसे भरें फॉर्म

वर्तमान में, SCSS खाता ऑनलाइन नहीं खोला जा सकता है, इसलिए SCSS आवेदन फॉर्म डाउनलोड करने के बाद, आपको इसे प्रिंट करना होगा। इसे भरकर सहायक दस्तावेजों के साथ पोस्ट ऑफिस/बैंक में जमा करना होगा। ये जानकारी देनी होगी...

- आवेदक का नाम और पैन कार्ड
- प्राथमिक आवेदक के पिता/माँ/पति/पत्नी का नाम
- पति या पत्नी के साथ संयुक्त SCSSखाते के मामले में, आपको अपने पति या पत्नी का नाम, उनकी आयु और पते का उल्लेख करना होगा
- चैक/डिमांड ड्राफ्ट की राशि और क्रमांक (यदि लागू हो)
- नॉमिनी व्यक्ति का नाम, उसकी आयु और पता


इन बैंकों में ही खोल सकते हैं खाता


SCSS खाता प्रदान करने वाले कुछ बैंक है,जो इस प्रकार है- इलाहाबाद बैंक, आंध्रा बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, बैंक ऑफ बड़ौदा, बैंक ऑफ इंडिया. कॉर्पोरेशन बैंक, केनरा बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, देना बैंक, सिंडीकेट बैंक, यूको बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, विजय बैंक, आईडीबीआई बैंक, इंडियन बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned