बदल गया है आपकी जेब में रखा क्रेडिट व डेबिट कार्ड, जानिए आपको क्या होगा फायादा

बदल गया है आपकी जेब में रखा क्रेडिट व डेबिट कार्ड, जानिए आपको क्या होगा फायादा

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Dec, 08 2018 06:47:53 PM (IST) | Updated: Dec, 08 2018 06:52:26 PM (IST) फाइनेंस

30 सितंबर 2018 तक जारी अांकड़ों के मुताबिक देश में 9 करोड़ डेबिट कार्ड व 4.2 करोड़ क्रेडिट कार्ड्स हैं। इस साल के शुरुआत में देश में कुल डेबिट कार्ड्स की संख्या 84.7 करोड़ व क्रेडिट कार्ड्स की संख्या 3.6 करोड़ था।

नर्इ दिल्ली। इस साल प्लास्टिक कार्ड्स में कर्इ तरह के बदलाव हुए हैं। 30 सितंबर 2018 तक जारी अांकड़ों के मुताबिक देश में 9 करोड़ डेबिट कार्ड व 4.2 करोड़ क्रेडिट कार्ड्स हैं। इस साल के शुरुआत में देश में कुल डेबिट कार्ड्स की संख्या 84.7 करोड़ व क्रेडिट कार्ड्स की संख्या 3.6 करोड़ था। ये आंकड़े भारतीय रिजर्व बैंक की तरफ से जारी किए गए हैं। कार्ड के माध्यम से होने वाले पेमेंट को ध्यान में रखते हुए बैंकों ने अब कार्ड्स को अधिक सुरक्षित बनाने का फैसला किया है। आइए जानते हैं कि सुरक्षा को लेकर इनमें क्या बदलाव हुए हैं।


EMV चिप वाले कार्ड अनिवार्य हुए

अगर आपके पास कोर्इ एेसा कार्ड है जिसमें EMV चिप नहीं है तो इस साल के अंत तक आप उसे बदलाव लें। आरबीआर्इ ने सभी बैंकों को निर्देश दिया है कि मैग्नेटिक स्ट्रिप वाले कार्ड की जगह वे EMV चिप वाले कार्ड जारी करें। हाल ही में भारतीय स्टेट बैंक ने बड़े पैमाने पर अपने डेबिट व क्रेडिट कार्ड्स को EMV चिप में बदला है। EMV चिप वाले इन कार्ड्स में माइक्रोप्रोसेसर चिप होता है जिनमें ग्राहकों का डेटा स्टोर होता है। यह तकनीक मैग्नेटिक कार्ड की तुलना में अधिक सुरक्षित होते हैं। यदि आप भी अपने कार्ड को बदलवाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कार्इ भी राशि खर्च नहीं करनी है। सभी बैंक इस सेवा को मुफ्त में दे रहे हैं।


मल्टीपर्पज व वर्चुअल कार्ड्स

कुछ बैंक एक ही कार्ड जारी कर रहे हैं जिनमें डेबिट व क्रेडिट, दोनों की सुविधा उपलब्ध होती है। हाल ही में इंडसइंड बैंक व यूनियन बैंक आॅफ इंडिया ने डेबिट कम क्रेडिट वाले कार्ड जारी किया है। इन कार्ड्स में दो चिप होते है, जिसमें एक डेबिट के लिए व दूसरा क्रेडिट के लिए होता है। अाप अपने जरूरत के हिसाब से इन कार्ड्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। कुछ बैंक आपको वर्चुअल कार्ड की सुविधा भी देते हैं जिसे अाप अपने स्मार्टफोन में स्टोर कर सकते हैं।


र्इ-काॅमर्स कंपनियों के साथ टाइअप

डेबिट व क्रेडिट कार्ड्स से लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए ये बैंक कर्इ तरह के र्इ-काॅमर्स कंपनियों के साथ टाइअप भी कर रहे हैं। एेसे में बैंक आपके लिए आसान बना रहे हैं ताकि आप अधिक से अधिक लेनदेन अपने कार्ड से ही करें। हालांकि यदि आप जरूरत से अधिक क्रेडिट का इस्तेमाल करते हैं तो इससे अापके क्रेडिट स्कोर पर इसका असर देखने को मिल सकता है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

Ad Block is Banned