सुहागनगरी में किसानों ने भरी हुंकार, जसराना तहसील में जड़ दिया ताला

भाकियू ने जसराना तहसील में जड़ा ताला, जमकर की नारेबाजी, एसडीएम को सौंपा ज्ञापन।

By: अमित शर्मा

Updated: 07 Jun 2018, 09:42 AM IST

फिरोजाबाद। किसानों की समस्याओं को लेकर भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने जसराना तहसील में तालाबंदी कर विरोध प्रदर्शन किया। भाकियू पदाधिकारियों ने एसडीएम को ज्ञापन देकर किसानों की समस्याओं को सरकार तक पहुंचाने की मांग की। इस दौरान तहसील परिसर छावनी के रूप में तब्दील हो गया।

जसराना तहसील पहुंचे थे भाकियू पदाधिकारी

भारतीय किसान यूनियन ने प्रदेश महासचिव विजेंद्र सिंह टाइगर के नेतृत्व में जसराना तहसील में तालाबंदी कर काफी संख्या में एकत्रित होकर प्रदर्शन किया। भाकियू जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह ने कहा कि सरकार किसानों का शोषण कर रही है। जान बूझकर उनकी कीमत का सही दाम नहीं दिया जा रहा है। किसान कर्ज तले दबा हुआ है। ऋण माफी का प्रमाण पत्र लेकर बैंकों के चक्कर लगा रहा है। बैंक कर्मचारी उसे परेशान कर रहे हैं। किसानों का शोषण किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

गन्ना और आलू किसानों की उठी मांग

जिला उपाध्यक्ष हरवीर सिंह ने कहा कि वर्तमान सरकार की शोषण नीति के कारण पहले गन्ना किसानों का फिर आलू किसानों का और अब लहसुन के उत्पादन करने वाले किसानों के साथ अन्याय हो रहा है अतः उचित मूल्य की लहसुन खरीददारी की जाये क्योंकि यह मसाला व औषधीय फसल है। इसका लागत मूल्य बहुत अधिक आता है। सरकार किसान के लिये विभिन्न इकाइयों द्वारा पशुधन प्रसार एवं दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने की पहल कर रही है, लेकिन किसान का दूध बिचैलिये के माध्यम से लागत मूल्य से भी कम में लिया जा रहा है। मूल्य कम से कम 45 से 50 रूपये प्रति लीटर होना चाहिये। इसके अलावा कई मांगे शामिल रहीं।

नहीं घुसने दिए फरियादी

इस दौरान तहसील पहुंचे भाकियू पदाधिकारियों ने शिकायत लेकर तहसील पहुंचे फरियादियों को भी नहीं घुसने दिया। तहसील के गेट पर तालाबंदी कर दी। सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की। बाद में एसडीएम मौहम्मद रिजवान को ज्ञापन देकर सरकार तक अपनी बात पहुंचाने की मांग की। ज्ञापन देने वालों में कालीचरन चतुर्वेदी, राम सिंह वर्मा, ब्लाॅक अध्यक्ष धर्मवीर सिंह समेत काफी संख्या में किसान मौजूद रहे।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned