पुलिस ने बात नहीं मानी तो धरने पर बैठ गए भाजपा नेता

आरोपी को छुड़ाने थाने गए थे विधायक, पुलिस ने नहीं सुना तो बैठे धरने पर।

By: suchita mishra

Published: 11 Sep 2017, 05:00 PM IST

फिरोजाबाद। प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के साथ ही भाजपाइयों में खुशी ही लहर दौड़ गई थी। उस दौरान उन्होंने कभी नहीं सोचा होगा कि एक दिन उन्हें अपनी ही सरकार में धरने पर बैठना पड़ेगा। फिरोजाबाद की शिकोहाबाद विधानसभा क्षेत्र से विधायक डाॅ. मुकेश वर्मा एक आरोपी को छुड़ाने मटसेना थाने पहुंचे। जब पुलिस ने उनके कहने पर आरोपी को नहीं छोड़ा तो वे वहीं धरने पर बैठ गए। वे वहां पुलिस पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। बाद में एसपी सिटी की समझाइश के बाद उन्होंने धरना समाप्त कर दिया।

 

ये है मामला
थाना मटसेना पुलिस ने रविवार दोपहर बाइक लूट के आरोपी अकराबाद हसनपुर निवासी पुरूषोत्तम सिंह पुत्र सूरज सिंह को गिरफ्तार किया था। जिसके विरूद्ध 23 अगस्त 2017 को बाइक चोरी व 35 हजार रूपए लूटने का मुकदमा लिखा गया था। इसका एक साथी अनिल पुत्र रक्षपाल सिंह फरार चल रहा है। पकडे गए आरोपी को छुडाने के लिए शिकोहाबाद विधायक डाॅ. वर्मा मटसेना थाने पहुंचे। एसओ मटसेना केपी सिंह के मुताबिक विधायक लूट के आरोप में पकड़े गए आरोपी को छुडाने के लिए दबाव बना रहे थे। इंकार करने पर वह थाने में ही धरने पर बैठ गए।

 

भाजपा के आला पदाधिकारी भी बैठे धरने पर
शिकोहाबाद विधायक के साथ जिले भर के भाजपा पदाधिकारी भी धरने पर बैठ गए। इसके बाद भी पुलिस ने आरोपी को नहीं छोड़ा। थाने पर भाजपाइयों की भीड़ एकत्रित होते देख सुरक्षा के लिहाज से एसएसपी अजय कुमार पांडे के निर्देश पर कई थानों का फोर्स भेज दिया गया। मामला लुटेरे को छुड़ाने का था, इसलिए भाजपा विधायक के विरोध में सोशल मीडिया ने सवाल खड़े करने शुरू कर दिए। अपने आप को चारों ओर से घिरता देख भाजपा विधायक ने मुद्दा ही बदल दिया। विधायक लुटेरे को छुड़ाने की न कहकर एसओ मटसेना द्वारा अवैध खनन, जुआ-सट्टा व हरे पेड़ कटवाने के विरोध में धरना देने की बात कहने लगे।

मामले की जांच के बाद कार्रवाई के आश्वासन पर खत्म किया धरना
शहर विधायक मनीष असीजा, एसपी सिटी राजेश कुमार भी मौके पर पहुंच गए। काफी देर तक बंद कमरे में शिकोहाबाद विधायक के साथ पुलिस अधिकारियों और शहर विधायक की बात चीत हुई। उसके बाद एसपी सिटी ने तीन दिन में मामले की जांच कर कार्रवाई की बात कहते हुए विधायक का धरना समाप्त कराया।

bjp leader
suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned