नहर के पानी ने मचाई तबाही, 1700 बीघा धान की फसल नष्ट करने के बाद अब गांव की ओर बढ़ रहा पानी

— फिरोजाबाद के एका क्षेत्र में नहर का कटान होने से पानी से लबालब हो गए खेत।

By: arun rawat

Published: 28 Jul 2021, 03:33 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
फिरोजाबाद। उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में खारजा नहर के कटान से किसानों की 1700 बीघा धान की फसल नष्ट हो गई। अब किसानों ने अधिकारियों से मदद की गुहार लगाई है। लगातार हो रही बारिश के चलते नहर का पानी अब गांव की ओर रूख करने लगा है। इसे लेकर ग्रामीण और भयभीत हैं।
यह भी पढ़ें—

रिश्ते के भाई ने पैसों के लेनदेन को लेकर की थी चार लोगों की हत्या, पुलिस ने किया खुलासा

इन ग्रामीणों की फसल हुई नष्ट
एका ब्लॉक फिरोजाबाद के यह छह गांव देवा, प्रेमपुर, जैतपुर, मछरआई, सरबपुर, नगला पाय में खारजा नहर के पानी ने तबाही मचा रखी है। नहर का कटान होने की वजह से नहर का पानी अब तक करीब 1700 बीघा धान की फसल नष्ट कर चुका है। खेतों में सात से आठ फीट तक पानी भरा हुआ है। इससे किसानों द्वारा खेत में की गई धान की फसल बर्बाद हो गई है।
यह भी पढ़ें—

आगरा से इटावा जा रही यात्रियों से भरी प्राइवेट बस अनियंत्रित होकर हाईवे पर पलटी, एक दर्जन यात्री घायल


गांव की ओर बढ़ रहा पानी
खेतों से होता हुआ नहर का पानी अब गांवों की ओर रूख करने लगा है। ग्रामीणों का कहना है कि गांव के निचले हिस्सों में पानी आने से लोगों को पानी से होकर आवागमन करना पड़ रहा है। सिंचाई विभाग द्वारा नहर में लगे फाटक को भी खोल दिया गया है जिससे पानी आगे निकल सके लेकिन खेत अभी भी तालाब बने हुए हैं।
यह भी पढ़ें—

पीपल के पेड़ के नीचे बंधी भैंसों पर गिरी आकाशीय बिजली, तीन भैंसों की मौत


खेतों के सहारे लगा रहे मिट्टी
कुछ ऐसे किसान जिनकी फसल अभी नहर के पानी से बची हुई है। उन्होंने खेत की मेड़ के सहारे मिट्टी लगाकर बांध लगाने का कार्य किया है जिससे नहर का पानी उनके खेत में न घुस सके। ग्रामीणों ने बताया कि खारजा नहर में पहले कभी पानी नहीं आया था। अचानक पानी आने से गांव में तबाही मची हुई है।

arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned