स्वास्थ्य विभाग को नहीं मिल रहे डॉक्टर, जानिए वजह

स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं। इसके बाद भी स्वास्थ्य महकमा बीमार पड़ा हुआ है।

By: मुकेश कुमार

Published: 18 Aug 2017, 07:01 PM IST

फिरोजाबाद। उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए सरकार द्वारा करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं। इसके बाद भी स्वास्थ्य महकमा बीमार पड़ा हुआ है। फिरोजाबाद के सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी है। शहर में बना सौ शैया अस्पताल चिकित्सकों की कमी के चलते शुरू नहीं हो सका है। ट्रॉमा सेंटर में भी चिकित्सकों की कमी है। गंभीर हालत होने पर मरीजों को आगरा रेफर किया जाता है।

22 का निकाला विज्ञापन 16 पहुंचे
स्वास्थ्य महकमे में डॉक्टरों की कमी को पूरा करने के लिए विभाग द्वारा विज्ञापन निकाला गया था। जिसमें डॉक्टरों से आवेदन मांगे गए थे। 22 पदों के लिए 29 डॉक्टर्स ने आवेदन किए थे लेकिन जब साक्षात्कार हुआ तो मात्र 16 डॉक्टर ही इंटरव्यू देने के लिए पहुंचे। सीएमओ डॉक्टर एसके दीक्षित का कहना है कि चिकित्सकों की कमी को पूरा करने के लिए आवेदन मांगे गए थे लेकिन डॉक्टर संविदा पर नौकरी करने को तैयार नहीं है। यही कारण है कि 22 पद के सापेक्ष में मात्र 16 ने इंटरव्यू दिए हैं। इनमें से ज्वाइन कितने करेंगे कुछ कहा नहीं जा सकता।

जिला अस्पताल में 10 डॉक्टरों की कमी
जिला अस्पताल में करीब 10 डॉक्टरों की कमी चल रही है तो वहीं सीएचसी और पीएचसी पर भी चिकित्सकों की कमी है। अस्पतालों में काम चलाने के लिए विभागीय अधिकारियों द्वारा डॉक्टरों का संबंधीकरण कर कार्य कराया जा रहा है। हालांकि संविदा पर लगे कुछ डॉक्टर्स नौकरी छोड़ चुके हैं तो कुछ सेवानिवृत हो गए। जिनके बाद उनके पद रिक्त हो गए हैं। वर्तमान में इन डॉक्टरों की कमी को पूरा करने के लिए करीब तीन से चार दर्जन डॉक्टर विभाग को चाहिए, लेकिन यहां डॉक्टर सरकारी सेवा में दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं।

बंद पड़ी हैं अल्ट्रासाउंड मशीन
जिला अस्पताल को छोड़कर बाकी जिलेभर में किसी भी सीएचसी और पीएचसी पर अल्ट्रासाउंड मशीन चालू हालत में नहीं है। अल्ट्रासाउंड कराने के लिए मरीजों को निजी अल्ट्रासाउंड सेंटरों पर जाने को विवश होना पड़ता है। स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन उनका लाभ कम ही मिल पा रहा है।

Show More
मुकेश कुमार
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned