पढ़ने की उम्र में नैना लढ़ा बैठी नाबालिग, परिजनों ने दी दर्दनाक मौत

— फिरोजाबाद के थाना टूंडला क्षेत्र का मामला, पिता ने हत्या कर शव को जला दिया

By: arun rawat

Published: 07 Apr 2020, 02:57 PM IST

फिरोजाबाद। पढ़ने की उम्र में नैना लड़ा बैठी एक किशोरी को उसके परिजनों ने मौत की खौफनाक सजा दी। पहले नाबालिग बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी, बाद में गांव से बाहर उसके शव को जला दिया। घटना की जानकारी पर पुलिस ने साक्ष्य जुटाए। पुलिस ने परिजनों के खिलाफ हत्या की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। हादसे के बाद परिवारीजन मौके से फरार हो गए।

यह था पूरा मामला
थाना टूंडला क्षेत्र के गांव मोहम्मदाबाद निवासी कक्षा सात की छात्रा के गांव में ही रहने वाले एक छात्र से प्रेम प्रसंग चल रहा था। जिसकी भनक लड़की के परिजनों को लग गई थी। पुत्री के घर से निकलने व छात्र से मिलने पर पाबंदी लगा दी थी। सोमवार रात्रि करीब दस बजे छात्रा मौका पाकर वह प्रेमी के घर पहुंच गई। जानकारी होने पर पीछे से परिवारीजन भी छात्र के घर पहुंच गए।

पिटाई के बाद दबा दिया गला
आरोप है कि पिटाई करने के बाद गला दबाकर हत्या कर दी। रात्रि में ही शव को खेतों पर ले जाकर अंतिम संस्कार कर दिया। घटना के बाद से ही दोनों परिवार अपने-अपने घरों से फरार हो गए हैं। छात्रा की मां ही अकेली घर पर रह गई है। चौकीदार की सूचना पर गांव पहुंची पुलिस ने जलने से बच गए मांस के लोथड़े को कब्जे में ले लिया। मां से पूछताछ की पर वह कुछ भी बताने में असमर्थ थी। मां भी बार-बार ब्यान बदल रही थी। मृतका का पिता बुग्गी चलाने का काम करता है। इंस्पेक्टर ज्ञानेन्द्र कुमार का कहना है कि पुलिस स्वयं ही स्वजनों के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कर रही है। छात्रा की गला दबाकर हत्या की गई है। जलने से बचे शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। मौके से फोरेंसिक विभाग की टीम ने भी साक्ष्य एकत्रित किए हैं। मामला ऑनर किलिंग का है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

परिवार में थी सभी की प्यारी
मृतका परिवार में सबसे छोटी थी। परिवार में माता-पिता के साथ ही दो बड़ी बहनें व एक बड़ा भाई है। ग्रामीणों की माने तो परिवार में छोटी होने के कारण वह सबकी प्यारी थी। बड़ी दोनों बहनों की शादी हो गई है। वह पढ़ाई में भी तेज थी। यही कारण था कि उसे गांव के सरकारी स्कूल में न पढ़ाकर राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में शिक्षा ग्रहण करने के लिए भेजा गया था। झूठी शान के चलते स्वजनों ने ही उसे मौत के घाट उतार दिया।

Show More
arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned