दबंगों की धमकी के बाद कर्ज में डूबे किसान ने की आत्महत्या

दबंगों की धमकी के बाद कर्ज में डूबे किसान ने की आत्महत्या

Amit Sharma | Publish: Feb, 15 2018 10:05:13 PM (IST) Firozabad, Uttar Pradesh, India

कल शाम को दबंगों ने धमकी दी थी कि कर्जा वापस नहीं किया तो देख लेंगे।

फिरोजाबाद। एक ओर योगी सरकार किसानों को हर संभव मदद का भरोसा दिला रही है वहीं दूसरी ओर कर्जे में डूबे किसान ने गोली मारकर आत्महत्या कर ली। किसान की मौत के बाद परिवार में कोहराम मचा हुआ है। किसान की आत्महत्या के पीछे परिजनों ने जो कहानी सुनाई है वह सरकार की व्यवस्था पर सवालिया निशान खड़े करने वाली है।

यह भी पढ़ें- UP budget 2018 योगी सरकार से इन दो शहरों को चाहिए विशेष पैकेज

कर्जे में था किसान

मामला शिकोहाबाद का है। छह मई को 45 वर्षीय किसान सतीश पुत्र किशनपाल जाट ने आलू की खेती की थी। 12 बीघा आलू की फसल हाल ही में हुई बारिश और ओलावृष्टि से प्रभावित हो गई। पिछले कुछ सालों से वह आलू की फसल कर रहे थे। उन्होंने गांव के लोगों के साथ साथ कुछ दबंगों से भी रुपया उधार लिया था। परिवार के लोगों का कहना है कि बुधवार की शाम कुछ लोग सतीश से रुपए मांगने आए थे और नहीं देने पर धमकी देकर चले गए थे।

यह भी पढ़ें- चार दशक बाद नलकूप से निकला पानी, चमका किसान का चेहरा

दबंगों ने दी थी कर्जा वापस करने पर देख लेने की धमकी

किसान के पांच संताने हैं जिनमें से बड़ी बेटी की उसने शादी कर दी थी। कर्जे और फसल खराब होने से वह दबाव में आ गया और उसने गुरुवार को तमंचे से खुद को गोली मारकर जान दे दी। किसान के भाई राजपाल का कहना है कि बैंक का भी सतीश पर कर्जा था। पत्नी शिवकुमारी रो-रो कर कह रही थी कि कल शाम को दबंगों ने धमकी दे दी थी कि कर्जा वापस नहीं किया तो देख लेंगे इसीलिए वह फसल खराब होने से परेशान होकर यह कदम उठा बैठे।

यह भी पढ़ें- 40 साल से भटक रहे किसान को मिलेगा कनेक्शन, पत्रिका की खबर के बाद MD ने दिए आदेश

Ad Block is Banned