उपचुनाव के नतीजों के बीच सपा के रामगोपाल यादव पर लगे गंभीर आरोप

Mukesh Kumar

Publish: Mar, 14 2018 01:28:58 PM (IST)

Firozabad, Uttar Pradesh, India
उपचुनाव के नतीजों के बीच सपा के रामगोपाल यादव पर लगे गंभीर आरोप

मुलायम सिंह यादव के समधी ने रामगोपाल यादव को बताया भाजपा का एजेंट

फिरोजाबाद। जिले में समाजवादी पार्टी के अंदर घमासान मचा हुआ है। सिरसागंज से सपा विधायक और उनके पुत्र के जेल जाने के बाद अब मुलायम सिंह यादव के समधी रामप्रकाश यादव ने सपा के राष्ट्रीय महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव को भाजपा का एजेंट बताकर सियासी गलियारों में खलबली मचा दी है। उन्होंने कहा कि उनके भाई एवं सपा विधायक हरीओम यादव के विरुद्ध साजिश रची गई है। विधायक के जेल से आने के बाद जन आंदोलन किया जाएगा।


रामगोपाल यादव पर लगाए गंभीर आरोप
सपा विधायक हरिओम यादव के भाई व शिकोहाबाद के पूर्व चेयरमैन रामप्रकाश यादव उर्फ नेहरू ने कहा कि प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने अपने पुत्र और पुत्रवधु को सीबीआई से बचाने के लिए सपा की कुर्बानी दे दी। सपा पार्टी में फूट डालने के पीछे रामगोपाल यादव का हाथ है। यादव सिंह मामले में रामगोपाल यादव और उनके पुत्र अक्षय यादव के साथ उनकी पुत्रवधु रिचा यादव से सीबीआई पूछताछ कर रही है। ऐसे में सीबीआई से बचने के लिए यह सबकुछ किया जा रहा है। प्रोफेसर रामगोपाल यादव भाजपा के एजेंट के रूप में काम कर रहे हैं।


विधायक के जेल से आने पर होगा जन आंदोलन
पूर्व चेयरमैन ने मंगलवार को कहा कि सपा विधायक हरिओम यादव और उनके पुत्र विजय प्रताप उर्फ छोटू को साजिश के तहत फंसाया गया है । उन पर लगाए गए सभी आरोप निराधार हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए विजय प्रताप सबसे प्रबल दावेदार थे, लेकिन साजिश रचकर उन्हें चुनाव लड़ने से रोक दिया गया। उन पर मुकदमे लगवा दिए गए। जिला पंचायत सदस्य हरिओम यादव के पास थे। जबकि रामगोपाल यादव के पास एक भी जिला पंचायत सदस्य नहीं था। ऐसे में यदि विजय प्रताप चुनाव लड़ते तो उनकी जीत निश्चित होती। उन्होंने कहा कि सपा विधायक के जेल से आने के बाद जन आंदोलन शुरू किया जाएगा।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned