तीन सूत्रीय मांगों को लेकर अनिश्चित कालीन हड़ताल पर गए ग्राम पंचायत व ग्राम विकास अधिकारी

पहले भी कई बार दे चुके हैं चेतावनी। कई बार धरने और भूख हड़ताल भी की, लेकिन सुनवाई नहीं हुई।

By: suchita mishra

Published: 07 Jun 2018, 04:47 PM IST

फिरोजाबाद। जिले में विकास का पहिया थम जाएगा। गांव में नाली और खरंजों का निर्माण अब नहीं होगा। हैंडपंप खराब होने पर लोगों को पानी के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पडेंगी। न कोई गंदे पानी की निकासी के लिए नाली बनवाने आएगा और न कोई तालाब की खुदाई का काम देखने। ऐसा इसलिए क्योंकि जिले के नौ ब्लाकों में कार्यरत ग्राम पंचायत व ग्राम विकास अधिकारी तीन सूत्रीय मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। इस दौरान ग्राम पंचायत विकास अधिकारी संघ द्वारा नारेबाजी कर विरोध जताया गया।

मांग पूरी न होने पर लिया निर्णय
जिला अध्यक्ष जितेन्द्र यादव ने कहा कि तीन सूत्रीय मांगों को लेकर ग्राम पंचायत व ग्राम विकास अधिकारियों ने सरकार को पहले ही चेतावनी दे दी थी। कई बार एक और दो दिवसीय धरने दिए। काली पट्टी बांधकर कार्य किया। भूख हडताल पर भी रहे। इसके बाद भी सरकार द्वारा मांगों की ओर ठोस कदम नहीं उठाया गया। मजबूरन हम सभी को अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाने को विवश होना पड़ा है। उन्होंने कहा कि यदि हमारी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो शासकीय योजनाओं का बहिष्कार किया जाएगा। गांवों में विकास कार्य नहीं कराए जाएंगे। गांवों में समस्याओं का अंबार लग जाएगा।

उत्तराखंड में मिल रहीं सुविधाएं
महामंत्री हरेन्द्र बघेल ने कहा कि सचिवों की कार्य संस्कृति के अनुरूप तीनों मांग पूर्णतया न्यायोचित है। अब हड़ताल तभी खत्म होगी जब हमारी तीनों मांगो पर विचार विमर्श कर शासनादेश जारी कर देगा। रामनेन्द्र सिंह यादव ने कहा कि शासन की हठधर्मिता आगे अब झुकेंगे नहीं और अपना हक पाकर रहेंगे। उन्होंने कहा कि समीपवर्ती राज्य उत्तराखंड में पहले भी तीन सूत्रीय मांगो के अनुरूप सचिवों को सुविधाएं दी जा रहीं हैं तो फिर यूपी में क्यो नही। धरना प्रदर्शन में खण्ड विकास अधिकारी मदनपुर दिनेश यादव, खण्ड विकास अधिकारी हाथवतं श्रीमती पंकज, कुशनपाल यादव, दिलीप कुमार, महेन्द्र यादव, शिवा तिवारी, मधु सगर, आदित्य मिश्रा, बृजेश कुमार, जितेन्द्र राजपूत, मानप्रताप, राकेश, अरूण कुशवाह, विपिन कुमार, राम शंकर, धर्मेन्द्र यादव, प्रशांत, मुनील यादव, ब्रज किशोर यादव, अविनाश, सौरभ, जसवंत, रवि मिश्रा आदि मौजूद रहे।

 

suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned