अपहृत वकील को अभी भी नजर आ रहे अपहरणकर्ता, सोचकर घबरा जाता है कलेजा

— आगरा से अपहृत हुए फिरोजाबाद के वकील ने बताई दिल की दास्तां, स्वयं पर नहीं हो रहा भरोसा कि वह सुरक्षित हैं

By: arun rawat

Updated: 19 Feb 2020, 02:08 PM IST

फिरोजाबाद। तीन फरवरी का दिन फिरोजाबाद के वकील अकरम के लिए बेहद ही खतरनाम रहेगा। इस दिन को वह कभी नहीं भूल पाएंगे। 14 दिन बाद अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छूटकर आए अकरम को अभी भी विश्वास नहीं हो रहा है कि वह अपने घर अब सुरक्षित हैं। एक रात घर पर रहने के बाद भी उन्हें अभी भी यह अहसास हो रहा है कि अपहरणकर्ता उनके आस—पास खड़े हैं।

पत्नी की खुशी का नहीं ठिकाना
अकरम की पत्नी रूकइया पति को घर वापस पाकर बेहद खुश नजर आ रही हैं। वह कहती हैं कि पति के जाने के बाद दिल में अजीब सी बेचैनी रहने लगी थी। उन्हें डरावने सपने आते थे। बच्चों के मासूम चेहरों को देखकर वह अपने दिल के दर्द को बयां नहीं कर पाती थीं। दरवाजे पर हमेशा नजर बनी रहती थी। कोई भी अंदर प्रवेश करता था, तभी ऐसा लगता था कि मानो अकरम आ गए हों। अब उन्हें पाकर वह बहुत खुश है।

मुझे नहीं था भरोसा कि पत्नी से मिलूंगा दोबारा
अकरम ने बताया कि परिवार से दूर रहकर उनके दिन दहशत में बीते। वह अल्लाह से यही मांगते थे कि सही सलामत उसे घर तक पहुंचाएं। परिवार व पत्नी के बारे में सोच कर वह काफी परेशान रहता था। उसने बताया कि बदमाश यही कहते कि उनका काम हो जाएगा तो वे छोड़ देंगे लेकिन उन्हें विश्वास नहीं हो रहा था कि वह जीवित सही सलामत घर पहुंच सकेंगे। वहां उन्होंने एक रात भूखा रहकर बिताई। उन पलों को याद कर अकरम काफी भावुक हो गए।

Show More
arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned