बिजली विभाग इस तरह लगा रहा उपभोक्ताओं को लाखों का चूना

बिजली विभाग इस तरह लगा रहा उपभोक्ताओं को लाखों का चूना

Amit Sharma | Publish: Sep, 04 2018 07:24:43 PM (IST) Firozabad, Uttar Pradesh, India

- सुहागनगरी में आरएफ मीटर के जरिए उपभोक्ताओं से वसूला जा रहा अधिक बिल।

फिरोजाबाद। सुहागनगरी में बिजली विभाग द्वारा आरएफ मीटर के सहारे विद्युत उपभोक्ताओं को हर माह लाखों रुपये का चूना लगाया जा रहा है। सूचना का अधिकार द्वारा मांगी गई सूचना में विभाग ने इसका खुलासा किया है। सामान्य मीटर की अपेक्षा आरएफ मीटर करीब 18 प्रतिशत तेजी से दौड़ रहे हैं। मामला सामने आने पर उपभोक्ताओं ने अब आंदोलन की राह पकड़ने का मन बना लिया है। हर महीने उपभोक्ताओं से अधिक बिल की वसूली की जा रही है।

यह भी पढ़ें—

लगातार हो रही बारिश में गिरा मकान, भाई-बहन का हुआ ये हाल

मांगी थी सूचना का अधिकार के तहत सूचना
टूंडली निवासी आरके प्रजापति ने विद्युत विभाग से आरएफ मीटर के पूर्व में लगे इलेक्ट्रिक मीटरों की अपेक्षा तेजी से चलने का आरोप लगाते हुए सूचना कस अधिकार के तहत सूचनाएं मांगी गई थी। नौ मई को मीटर विभाग के अवर अभियंता महेन्द्र कुमार व सहायक अभियंता मीटर अभिषेक राठौर की मौजूदगी में सिंगल फेस आरएफ व इलेक्ट्रिक मीटर पर लोड डालकर चेक किया गया। जिसमें आरएफ मीटर करीब 18 प्रतिशत तेजी से चलता पाया गया। नगर में अप्रेल 2015 में मीटर लगाए गए थे। चार साल में बिजली विभाग ने आरएफ मीटर के सहारे उपभोक्ताओं को लाखों रुपये का चूना लगा दिया गया।

यह भी पढ़ें—

सुहागनगरी में कुछ इस तरह मना श्रीकृष्ण जन्मोत्सव का पर्व, देखें वीडियो

पीआईएल करेंगे दाखिल
प्रजापति का कहना है कि वह उक्त रिपोर्ट के सहारे कोर्ट में पीआईएल दाखिल करेंगे। जिससे उपभोक्ताओं से वसूले गए अतिरिक्त बिजली बिल को वापस कराया जा सके। अधिशासी अभियंता मीटर नसीर अहमद का कहना है कि हो सकता है कि जिस मीटर को चेकिंग के लिए लगाया गया हो। उसमें कोई खामी हो। सभी मीटर चेक करने के बाद ही लगाया जाता है। यदि कोई मीटर खराब होता है तो उसे ठीक कराया जाता है। सभी मीटर खराब होने की बात गलत है।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned