National Deworming Day: गंदगी की वजह से पड़ जाते हैं पेट में कीड़े, ऐसे करें बचाव

— अपर स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया इस बीमारी से बचाव के उपाय, प्रत्येक वर्ष स्कूलों में दो बार दी जाती है कीड़े मारने की दवा

By: arun rawat

Updated: 10 Feb 2020, 05:23 PM IST

फिरोजाबाद। पेट में मरोड़ उठना, भूख न लगना, तेज जलन होना या फिर पेट में भारीपन रहना। इस बीमारी की वजह पेट में कीड़े होना हो सकता है। हमारी गलत आदतों की वजह से पेट में कीड़े हो जाते हैं। जांच न होने के कारण हमें इस बीमारी के बारे में जानकारी नहीं हो पाती। थोड़ी सी जानकारी और सावधानी रख हम इस बीमारी से बच सकते हैं।

ऐसे करें बचाव
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (एसीएमओ) विनोद कुमार ने बताया कि छोटे बच्चों के पेट में कीड़े होने की आशंका अधिक होती है लेकिन यह किसी भी उम्र के लोगों के पेट में बीमारी हो सकती है। इस बीमारी के बढ़ने की वजह गंदगी है। अकसर यह बीमारी उन लोगों में होती है जो शौच के बाद हाथ साफ नहीं करते और गंदे हाथों से खाने पीने का सामान प्रयोग में लेते हैं। गंदे हाथों के जरिए गंदगी हमारे शरीर में पहुंच जाती है और इसकी वजह से पेट में कीड़े पड़ जाते हैं।

रखें साफ—सफाई
उन्होंने बताया कि यही नहीं अन्य ऐसी कई बीमारियां हैं जो गंदगी की वजह से होती हैं। इसलिए साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें। खाना खाने से पहले हाथों को साबुन से धोएं। पेट के कीड़े मारने के लिए अलबंडाजोल टैबलेट वर्ष में दो बार स्कूलों में जाकर खिलाई जाती हैं, जिससे बच्चों के पेट में होने वाले कीड़ों को समाप्त किया जा सके और वह स्वस्थ रह सकें। अकसर पेट में कीड़े होने के बाद बच्चे को भूख नहीं लगती, कुछ खाता भी है तो शरीर में नहीं लगता। स्वस्थ बच्चे को भी इसकी एक टेबलेट खिलाई जा सकती है।

Show More
arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned