बैंक कर्मियों की हड़ताल से लेने-देने पर असर, परेशान दिखे ग्राहक

फिरोजाबाद में भी बैंक कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर रहे। 

By: मुकेश कुमार

Published: 22 Aug 2017, 06:16 PM IST

फिरोजाबाद। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस (यूएफबीयू) के आह्वान पर बैंक कर्मियों की हड़ताल का असर फिरोजाबाद जिले में भी दिखाई दिया। मंगलवार को सुहाग नगरी में बैंक कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर रहे। बैंक कर्मियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोला। बैंकों में कामकाज ठप रहने से उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ा। एटीएम भी खाली नजर आए। उपभोक्ता एक एटीएम से दूसरे एटीएम की दौड़ लगाते दिखाई दिए।

 

सरकार कर रही कर्मचारियों का शोषण
सेंट्रल बैंक के सामने विरोध प्रदर्शन कर रहे बैंक कर्मचारियों ने कहा कि सरकार बैंकों का विलय करके बैंक कर्मचारियों को सड़क पर लाने का काम कर रही है। बैंककर्मी शीलेन्द्र प्रताप सिंह का कहना है कि वर्तमान में करीब दो दर्जन से अधिक बैंक संचालित हो रही हैं। इसके बाद भी उपभोक्ताओं का काम समय से नहीं हो पा रहा है

 

निजी बैंकों को मिल रहा बढ़ावा
बैंक कर्मचारी राजेन्द्र प्रसाद का कहना है कि निजी बैंकों ने अपना व्यापार बढ़ाना शुरू कर दिया है। सरकारी बैंकों के कर्मचारी पूरी मेहनत और ईमानदारी से काम कर रहे हैं। इसके बावजूद सरकार सरकारी बैंकों को आपस में विलय करके उनकी संख्या घटाने की योजना तैयार कर रही है। बैंक कर्मचारी सरकार की इस मंशा को पूरा नहीं होने देंगे।

 

कैसे होगा काम, परेशान होंगे ग्राहक
बैंक कर्मचारियों का कहना है कि इतनी बैंक होने पर भी बैंकों में उपभोक्ताओं की लंबी लाइन लगी रहती है। जब बैंकों का विलय होकर उनकी संख्या कम रह जाएगी। तब उपभोक्ताओं का काम कैसे पूरा हो सकेगा। उपभोक्ता बैंकों के चक्कर लगाते रहेंगे लेकिन उनके काम पूरे नहीं हो सकेंगे। केंद्र सरकार को अपने इस आदेश पर पुनर्विचार करना चाहिए।

 

पैदल हो जाएंगे हजारों बैंक कर्मचारी
बैंक कर्मचारियों का कहना है कि जब बैंकों का आपस में विलय हो जाएगा तो हजारों बैंक कर्मचारी सड़क पर आ जाएंगे। उनके परिवार की जिम्मेदारी कौन उठाएगा। अभी जैसे तैसे बैंक कर्मचारी परिवार का भरण पोषण कर रहे हैं। सरकार के इसी आदेश के विरोध में बैंक कर्मचारी पूरे प्रदेश में हड़ताल कर रहे हैं।

Narendra Modi
Show More
मुकेश कुमार
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned