बेदर्द पिता ने किया बेघर, भूख से तड़पते बच्चे पत्ते खाने को हुए मजबूर

मां न्याय के लिए लाइन में लगी थी, भूख से तड़पते मासूम बच्चों को राहगीरों ने पत्ती खाते देखा तो दिल पसीज गया। दर्जनभर लोग मदद को रुक गए।

By: अमित शर्मा

Updated: 10 Feb 2018, 09:02 PM IST

फिरोजाबाद। सुहागनगरी में एक बेदर्द पिता ने पत्नी और दो मासूम बच्चों को घर से बाहर निकाल दिया। पीड़ित पत्नी मासूम बच्चों के साथ अधिकारियों से मदद मांगने पहुंची तो उसे कहीं भी मदद नहीं मिली। मासूमों को भूख लगी तो उन्होंने पेट भरने के लिए पेड़ की पत्तियों का सहारा लिया। इस दृश्य को देख रहे लोगों की आंखों में आंसू आ गए। बाद में अधिकारियों के पहुंचने पर महिला को उसके घर वापस भिजवाया गया।

 painful Story

पति ने निकाल दिया था घर से

पति द्वारा घर से निकाले जाने पर अपने तीन बच्चों संग एसएसपी से न्याय की गुहार लगाने पहुंची पीड़िता ने बच्चों को कार्यालय के बाहर पेड़ की छांव में बैठा दिया और अंदर खुद लाइन में लगी गई। भूख से व्याकुल दो साल की बच्ची पत्तियां खाती रही तो राहगीरों का दिल पसीजा और उसको दूध, बिस्किट मुहैया कराए। चांदतारा पत्नी राजूद्दीन निवासी अगदाद नगर गली नम्बर दो को उसके ससुरालियों ने पांच फरवरी को घर से मारपीट कर निकाल दिया था। आरोप है कि पति ने दूसरी शादी कर ली है। रामगढ़ थाने में न्याय मांगने गई तो उसे घर की आपसी लड़ाई कहकर भगा दिया।

 painful Story

एसएसपी से शिकायत करने पहुंची महिला

एसएसपी से शिकायत करने पहुंची थी और अपनी बेटी मन्तसा, परीन और छह माह के बेटे हसन को कार्यालय के बाहर पेड़ों की छांव में बिठा दिया। मां करीब एक घंटे तक अपनी बारी का इंतजार करती रही और इस बीच भूख से बिलखती बच्ची परीन रोने लगी और फिर पेड़ों की नीचे पड़ीं पत्तियों को खाने लगी। राहगीरों ने मासूम को पत्ती खाते देखा तो दिल पसीज गया। दर्जनभर लोग मदद को रुक गए और फिर कोई बिस्किट लेकर आया तो किसी ने दूध का इंतजाम कराया, तब जाकर मासूम ने पत्तियों को खाना बंद किया।

 

 painful Story

अधिकारी भी पसीजे, पीड़िता को दिलाएंगे न्याय

विकास भवन में मासूम द्वारा पत्तियां खाने की बात पहुंची तो मौके पर जिला समाज कल्याण अधिकारी प्रज्ञाशंकर तिवारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी अजय पाल सिंह ने 20 मिनट तक इंतजार किया तब बच्चों की मां चांदतारा को फटकारा। पीड़िता ने अपनी बात बताई तो अधिकारी पसीज गए। जिला प्रोबेशन अधिकारी ने तत्काल दबरई चौकी पुलिस बुलाई। सारा मामला उनके संज्ञान में दिया और कहा कि अब वे खुद भी महिला के मामले में उसे न्याय दिलाएंगे।

 painful Story
Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned