सरकार के दूत के सामने शिक्षामित्रों का प्रदर्शन

शिक्षामित्रों ने कहा कि उन्हें समायोजित कर वापस शिक्षामित्र बना दिया है, उन्हें अब दोबारा से शिक्षक के पद पर समायोजित किया जाए।

By: अमित शर्मा

Published: 18 Aug 2017, 09:13 PM IST

फिरोजाबाद। समायोजित शिक्षामित्रों का प्रदर्शन तेज होता जा रहा है। सुहाग नगरी में आए प्रमुख सचिव के सामने शिक्षामित्रों ने अपनी मांग रखी। इतना ही नहीं उन्हें ज्ञापन देकर अपनी मांग पूरी करवाए जाने की मांग भी की। शिक्षामित्रों ने प्रमुख सचिव के सामने जमकर हंगामा और विरोध प्रदर्शन भी किया। शिक्षामित्रों ने सरकार पर भेेदभाव के तहत कार्य करने का आरोप लगाया।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर हटाए गए थे शिक्षामित्र

विदित हो कि शिक्षामित्रों को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद समायोजित कर शिक्षक पद से दोबारा शिक्षामित्र के पद पर भेज दिया गया था। तभी से धरना प्रदर्शन शुरू हो गए थे। बीच में सरकार का आश्वासन मिलने के बाद शिक्षामित्रों ने अपना धरना समाप्त कर दिया था। अब दोबारा से शिक्षामित्रों का धरना शुरू हो गया है। शिक्षामित्रों ने स्कूल जाना छोड़ दिया है और अब अपनी मांग को लेकर मुख्यालय पर प्रदर्शन कर रहे हैं।

 

प्रमुख सचिव को बताई समस्या

प्रमुख सचिव जितेन्द्र कुमार फिरोजाबाद जिले के भ्रमण पर हैं। वह गांव में विकास कार्यों की जांच कर रहे हैं तो वहीं सरकारी महकमों का निरीक्षण कर कार्यों की जानकारी ले रहे हैं। जानकारी होने पर शिक्षामित्र एकजुट हो गए और प्रमुख सचिव के पास पहुंच गए। जहां उन्होंने प्रमुख सचिव से मिलने से पूर्व जमकर हंगामा किया। बाद में प्रमुख सचिव को ज्ञापन देकर अपनी मांग पूरी करवाए जाने की मांग की।

वापस शिक्षक पद पर करने की मांग

शिक्षामित्रों ने कहा कि उन्हें समायोजित कर वापस शिक्षामित्र बना दिया है। उन्हें अब दोबारा से शिक्षक के पद पर समायोजित किया जाए। जब तक उन्हें शिक्षक पद पर नहीं भेजा जाएगा वह शिक्षण कार्य नहीं कराएंगे। प्रमुख सचिव ने उनकी समस्या से सरकार को अवगत कराने का आश्वासन दिया। शिक्षामित्र अभी भी धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। धरना प्रदर्शन में पुरूषों के अलावा महिला शिक्षामित्रों की संख्या भी अधिक है। 

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned