छह माह के मासूम को ट्रैक पर फेंक ट्रेन के आगे कूद गई कलयुगी मां, हालत गंभीर

— फिरोजाबाद रेलवे स्टेशन का मामला, ग्रह क्लेश से तंग आकर उठाया आत्मघाती कदम, जीआरपी के सिपाही ने बचाई मां—बेटे की जान।

By: arun rawat

Updated: 26 Sep 2020, 02:11 PM IST

फिरोजाबाद। ग्रह क्लेश से तंग कलयुगी मां ने अपने छह माह के मासूम बच्चे को ट्रैक पर फेंक दिया और स्वयं भी ट्रेन के आगे छलांग लगा दी। यह सब देख रहे जीआरपी के सिपाही ने मां और बच्चे की जान बचाई। मां की हालत गंभीर बनी हुई है जबकि बच्चा सकुशल है। जानकारी होने पर परिजन अस्पताल पहुंच गए थे।

यह था पूरा मामला
पूरा मामला फ़िरोज़ाबाद रेलवे स्टेशन का है। जहां एक महिला अपने छह माह के मासूम बच्चे के साथ पहुंच गई। महिला कभी इधर तो कभी उधर घूमती रही उसकी हरकत को देखकर वहां ड्यूटी कर रहे जीआरपी के सिपाही योगेन्द्र को कुछ अलग सा लगा और वह उस महिला को देखता रहा। तभी महिला ने सामने से आती ट्रेन को देखा और बच्चे को ट्रैक पर फेंक दिया। ट्रेन थोड़ी दूरी पर थी और वह स्वयं भी कूद गई।

जीआरपी सिपाही ने बचाई जान
उसने महिला को आत्महत्या करता देखा तो उसने दौड़ लगा दी। ट्रेन के आने से पहले ही बच्चे और महिला को बचा लिया लेकिन महिला गंभीर रूप से घायल हो गई। महिला ने अपना नाम पुष्पा बताया। इस पूरे मामले में बच्चे को जरा भी चोट नहीं आई। सिपाही ने महिला को अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां उसका उपचार चल रहा है।

ग्रह क्लेश से तंग आकर उठाया कदम
महिला ने बताया कि उसने ग्रह क्लेश से तंग आकर यह कदम उठाया है। घर में आए दिन क्लेश होती है जिसे लेकर वह मानसिक रूप से परेशान हो गई और उसने अपनी जीवन लीला समाप्त करने का मन बना लिया था। मौके पर पहुंचे ससुरालीजनों का कहना है कि मामूली कहासुनी होने पर वह बच्चे को लेकर घर से निकल आई थी उन्हें इसकी जानकारी नहीं हो सकी थी कि वह इस हरकत को कर सकती है अपने बच्चे कि जीवन के साथ ही अपने जीवन को भी दांव पर लगा दिया यदि जीआरपी का सिपाही उन्हें नहीं बचाता तो शायद उन दोनों की मौत हो चुकी होती परिवारी जन महिला को मनाने में जुटे हुए हैं वहीं घायल का अस्पताल में उपचार चल रहा है।

Show More
arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned