जानिए, मौत के बाद जिंदा होने वाले ज्ञान सिंह के दावे का सच

मक्खनपुर में मौत के बाद जीवित होने वाले ज्ञान सिंह की घटना किसी के गले नहीं उतर रही है।

By: मुकेश कुमार

Published: 10 Feb 2018, 03:33 PM IST

फिरोजाबाद। फिरोजाबाद के मक्खनपुर में मौत के बाद जीवित होने वाले ज्ञान सिंह की घटना किसी के गले नहीं उतर रही है। ज्ञान सिंह ने जो घटना लोगों को सुनाई वो अविश्वनीय है। इस संबंध को लेकर पंडित विवेक मुद्गल से बात की गई तो उन्होंने बताया कि इस संसार में मौत के बाद व्यक्ति कहां जाता है। स्वर्ग और नरक क्या है यह आज भी लोगों के लिए पहेली बना हुआ है। मौत के बाद कोई भी व्यक्ति वो कहां गया यह बताने जमीन पर नहीं आता, लेकिन ज्ञान सिंह की मौत के बाद जीवित होने की पहेली सी लगती है।

मक्खनपुर क्षेत्र की घटना
थाना मक्खनपुर के नगला मुखराम निवासी ज्ञान सिंह (65) पुत्र बाबूराम की रविवार को तबीयत खराब हो गई थी। बीमारी के चलते वृद्ध की मौत हो गई थी। परिवार के लोग अंतिम संस्कार की तैयारियां करने लगे। इसी दौरान अचानक वृद्ध के शरीर में परिवर्तन होने लगा। उसके हाथ में फफोले पड़ने लगे। शरीर के कुछ हिस्से पर नीले धब्बे पड़ने लगे। वृद्ध के शरीर में परिवर्तन होते देख लोग हैरत में पड़ गए। वो समझ नहीं पा रहे थे कि यह क्या हो रहा है। कुछ ही देर के बाद वृद्ध की सांसें लौट आई। वृद्ध की सांसें चलते ही लोग घबरा गए। लोग तरह तरह की चर्चाएं करने लगे। बाद में शरीर में सामान्य रूप से हरकतें होने लगी। सांसे चलने के बाद भी वृद्ध अचेतावस्था में रहा।

मौत के बाद जिंदा हुआ बुजुर्ग
मौत के बाद जीवित होने के दावा करने वाले वृद्ध ज्ञान सिंह ने लोगों को बताया कि तीन लोग उसको पकड़ कर ले गए थे। काफी दूर पहाड़ों व कई प्रकार के रास्तों से होते हुए वो लोग उसे एक सुन्दर से स्थान पर ले गए। वहां पर एक बड़ा सा सोने का गेट था। गेट पर कई पहरेदार खड़े हुए थे। उन्होंने उनको फाटक के अन्दर नहीं जाने दिया। जो लोग उसको पकड़ कर ले गए। उनको भी चौकीदारों ने फटकार लगाई। काफी देर तक उनको घुसने नहीं दिया गया। उसी दौरान एक पहरेदार उसके ऊपर गरम चीज फेंकी। उसके बाद उसको धक्का मार दिया। वो सीधे नीचे आ गया।

जैसे कर्म वैसा फल
वहीं पंडित विवेक मुद्गल महाराज बताते हैं कि विज्ञान से बढ़कर इस संसार में कोई चमत्कार नहीं है। व्यक्ति की मौत के बाद किसी ने नहीं देखा कि वो मरकर कहां जाता है। क्या स्वर्ग है और क्या नर्क। उन्होंने पत्रिका को बताया कि स्वर्ग और नरक इसी धरती पर हैं। यह दोनों कर्मो के आधार पर प्राप्त होते हैं। सत्कर्म करने वाला व्यक्ति स्वर्ग और बुरे कर्म करने वाला व्यक्ति नरक में जाता है।

Show More
मुकेश कुमार
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned